स्वर्गवासी हो चुके स्टीफन हॉकिंग ने कहा था, नहीं होता है स्वर्ग, यह महज एक कोरी कल्पना है

0
179

स्वर्गवासी हो चुके मशहूर वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने कुछ साल पहले ही स्वर्ग की परिकल्पना को सिरे से खारिज कर दिया था। स्टीफन ने कहा था कि स्वर्ग महज मानव मस्तिष्क की एक परिकल्पना है। उन्होंने इसे अंधेरे से डरने वालों की कहानी के समान बताया था।

स्टीफन ने कहा था कि उन्हें मौत से डर नहीं लगता बल्कि इससे ज़िंदगी को और बेहतर तरीके से जीने की प्रेरणा मिलती है। हॉकिंग ने यह भी कहा था कि हमारा दिमाग एक कम्पूटर की तरह काम करता है। जब इसके पुर्जे खराब हो जाएंगे, तो यह काम करना बंद कर देगा। खराब हो चुके कंप्यूटरों के लिए स्वर्ग और उसके बाद का जीवन नहीं होता है।

यह तो अंधेरे से डरने वालों के लिए बनाई गई एक मनगढंत कहानी है। अपनी नई किताब द ग्रैंड डिजायन में प्रोफेसर हॉकिंग ने कहा था कि ब्रह्मांड अपने आप बना था। यह बताने के लिए विज्ञान को किसी देवी शक्ति की जरूरत नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here