स्टार्टअप्स कृषि उपज बढ़ाने की दिशा में कार्य करें : प्रभु

0
57

देश में खेतीबाड़ी में छोटे जोत उभरते स्टार्टअप्स के लिए विशिष्ट अवसर प्रदान करते हैं, जो तकनीक का उपयोग कर छोटे जोत में उपज बढ़ाने के तरीके और साधनों का पता लगाने के लिए अनूठा अवसर प्रदान कर सकते हैं। प्रभु ने यहां स्टार्ट-अप इंडिया ग्लोबल वेंचर कैपिटल समिट में कहा, “भारत में एक विशिष्ट प्रणाली है। खेती के लिए प्रयोग की जानेवाली लगभग सारी जमीन पर निजी मालिकाना हक है। खेत काफी छोटे-छोटे और बंटे हुए हैं, इसलिए हमारे पास उपज को एक अलग तरीके से बढ़ाने का अवसर है।”

उन्होंने कहा, “यहां स्टार्टअप्स के लिए अवसर हैं। छोटे से खेत से नई प्रौद्योगिकीयों से ज्यादा से ज्यादा उपज कैसे प्राप्त करें।”

प्रभु ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार ने उद्योग, सेवा और कृषि क्षेत्रों में अंतर को पाटने के लिए एक विश्लेषण किया है, ताकि इन क्षेत्रों से ज्यादा प्राप्त किया जा सके।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार नई नीतियों और प्रशासनिक समाधानों को लागू कर रही है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here