SpaceX’ के स्टारशिप रॉकेट ने की सफल लैंडिंग, लेकिन कुछ ही देर में हुआ धमाका

0

एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स द्वारा निर्मित अत्याधुनिक और भारी-भरकम रॉकेट स्टारशिप ने पहली बार अपनी उड़ान भरी। यह हवा में 6 मील की ऊंचाई तक भी गया, लेकिन धरती पर उतरने के 10 मिनट बाद इसमें जोरदार धमाका हुआ और रॉकेट में आग लग गई। मस्क ने गुरुवार को इसकी सफल लैंडिंग का जश्न मनाते हुए ट्वीट किया था, “स्टारशिप एसएन10 पहली बार में ही सफलतापूर्वक लैंड हो गया।” हालांकि रॉकेट में विस्फोट होने के बाद उन्होंने इस पर दुख जताते हुए इसके लिए ट्वीट कर ‘आरआईपी’ भी लिखा।

स्पेसएक्स के मुताबिक, एसएन10 को टेक्सास के बोला चिका से लॉन्च किया गया था। इसे प्रक्षेपित किए जाने का मकसद कम्प्यूटर द्वारा नियंत्रित रॉकेट के चार वायुगतिकीय फ्लैप्स की गतिविधि पर नजर रखना था क्योंकि इससे पहले कंपनी द्वारा बनाए गए रॉकेट एएसएन8 और एसएन9 में लैंड करने के दौरान ही विस्फोट हो गया था।

स्टारशिप मंगलग्रह पर इंसानी बस्ती बसाने की एक महत्वाकांक्षी योजना है। कंपनी सही डिजाइन का पता लगाने के लिए कई अलग-अलग तरह के प्रोटोटाइप पर काम कर रही है, जो कि इंसानों को मंगल ग्रह तक आराम से पहुंचा सके।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous article5G सपोर्ट के साथ iQOO Z3 Vivo का एक सब ब्रांड आ रहा है
Next articleSona Mohapatra: जाह्नवी कपूर के नदियों पार गाने के रीमेक पर भड़की सिंगर सोना मोहपात्रा
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here