जेब में महज 5500 रुपए लेकर मुंबई आए थे हीरो बनने सोनू सूद

0

आज हर एक प्रवासी मजदूरों के लिए बॉलीवुड के अभिनेता सोनू सूद किसी मसीहा से कम नहीं हैं। वो अब तक ना जाने कितने मजदूरों को अपने गांव और घर पहुंचा चुके हैं इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है। यही कारण है कि आज सोनू सूद की तारीफ हर एक शख्स कर रहा है। साथ ही उनके काम की सराहना भी की जा रही है। अचानक हुए लॉकडाउन के ​के बाद कई वर्कर और लोग मुंबई में फंंस गए थे ऐसे लोगों को सोनू सूद ने उनके घर पहुंचाने का जिम्मा उठाया। आपको बता दें कि अभिनेता सोनू सूद खुद ही बसें चलवा कर इन मजदूरों को उनके गांव तक पहुंचा रहे हैं। जिसके लिए उन्होंने कई सारी बसें इस वक्त किराए पर ले रखी है। जो उन मजदूरों को उनके घर पहुंचाने का काम कर रही है।

सोनू सूद को एक महिला ने अनोखे अंदाज में दिया ट्रिब्यूट, अभिनेता ने कहा सबसे बड़ा अवॉर्ड

जिससे ये साबित कर दिया है कि सोनू सूद अस​ल जिंदगी के हीरो है वो भले ही अपनी फिल्मों में नकारात्मक किरदार निभाते हों। आज सोनू सूद कई लोगों की मदद कर रहे है लेकिन ये किसी को नहीं पता है कि वो खुद सिर्फ 5500 रूपए लेकर मुंबई आए थे। सोनू सूद ने एक बार एक बातचीत में बताया था कि उन्होंने अपने करियर की शुरूआत मॉडलिंग से की थी जो दिल्ली से शुरू की थी।

पंकज कपूर की पहली फिल्म ने जीते थे 1 या 2 नहीं बल्कि कुल 8 ऑस्कर अवॉर्ड

उन्होंने ऐसा इसलिए किया था जिससे वो कुछ पैसे कमा ले और मुंबई जाकर संघर्ष करें। सोनू सूद ने बताया कि उन्होंने दिल्ली में करीब डेढ़ साल तक काम किया और उन्होंने साढ़े पांच हजार रुपये जमा कर लिए थे। जिससे वो मुंबई में एक महीने तक सर्वाइरव कर लेंगे। लेकिन उनके पैसे महज 5 से 6 दिनों में ही खत्म हो गए। इसके बाद अभिनेता को अपने घर से मदद लेनी पड़ी।

एकता कपूर बंद करने जा रही नागिन 4, धमाकेदार होगा अंत

इसके बाद अभिनेता को उनका पहला ब्रेक लिया जो एक विज्ञापन के लिए था। अभिनेता को इस एड के बदले में उनको 2000 रोज मिलने लगे। हालांकि इस विज्ञापन में उनको पीछे खड़े होकर ड्रम बजाना था जिसमे वो नजर ही नहीं आ रहे थे। जबकि सोनू सूद ने ये सोचा था कि हो सकता है कि वो इस एड की वजह से नोटिस किए जाएंगे। हालांकि अभिनेता का ये संघर्ष काम आया और आज वो खुद बड़े स्टार है और लोगों की मदद कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here