नेपोटिज्म को लेकर सोनम के साफ बोल, सक्सेस के लिए उठाती है पापा के नाम का फायदा

0
32

बॉलीवुड की एक्ट्रेस सोनम कपूर की पहली फिल्म सांवरिया थी जो कि साल 2007 में रिलीज हुई थी।फिल्म को संजय लीला भंसाली ने डायरेक्ट किया था।ये फिल्म फ्लॉप साबित हुई थी।हालांकि इस फिल्म के बाद सोनम का नाम बॉलीवुड गलियारो में चलता रहा है।सोनम अनिल कपूर की बेटी है।जो कि बॉलीवुड के सुपरस्टार है।

फिल्म इंडस्ट्री में आने पर सोनम कपूर पर नेपोटिज्म को लेकर कई सवाल खड़े हुए अब लीजिए हाल ही में सोनम ने इस बारे में बात की उन्होनें कहा- सभी ने नेपोटिज्म की गलत परिभाषा तय की हुई है। सभी सोचते हैं कि नेपोटिज्म का मतलब रिलेटिव ऑफ पर्सन हैं, लेकिन नेपोटिज्म का मतलब वास्तविक मतलब होता है कि किसी भी फिल्ड में संबंध होने के चलते जॉब पाना है। इसके साथ उन्होंने कहा कि लोग अपने अनुसार इस शब्द का इस्तेमाल करते हैं और अपने फायदे के अनुसार इसका फायदा उठाते हैं।

सोनम कहती है मेरे पिता कोई शानदार परिवार से नहीं आते हैं उन्होंने बॉलीवुड में 40 साल इस इंडस्ट्री में कड़ी मेहनत की ताकि उनके बच्चों को किसी भी परेशानी ना हो और अगर में इसका फायदा नही लूंगी तो उनकी बेज्जती होगी।  सोनम ने इस बात का लॉजिक बताते हुए कहा कि सभी के माता-पिता अपने बच्चों के लिए काम करते हैं।

वही इससे पहले राधिका आप्टे ने भी इस बारे में अपनी राय रखी थी उन्हनें कहा था कि-अगर वह फिल्म निर्देशक होती तो वह अपने बेटे को बॉलीवुड में नहीं लॉन्च करती। खैर सभी का नेपोटिज्म के लेकर अलग-अलग विचार हैं।बात यदि सोनम के वर्क फ्रंट की करें तो उनकी फिल्म जल्द ही रिलीज होगी जो कि जोया फैक्टर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here