कीमती पत्थर पन्ना के कुछ रोचक तथ्य, जानकर रह जायेंगे हैरान

0
26

जयपुर। हीरों और नगीनों को तराशना भी एक कला है। इसको केवल तजुर्बे तथा तकनीकी मानकों के द्वारा सीखा जा सकता है। जिस तरह से मल्टीफेज इंक्लूजन पन्ना रत्न की पहचान करने में एक अहम भूमिका निभाता हैं। इससे उस एमरल्ड यानी पन्ने के उद्भव के बारे में जानकारी हासिल होती है। रत्न विशेषज्ञ पन्ना में अंदर त्रिआयामी दरारें ढूंढते हैं। इससे ज्ञात होता है कि वो पन्ना कोलंबिया की खदानों का है या ब्राजीली खदानों का या फिर जांबिया क्षेत्र का, तो इस तरह से इनकी पहचान की जाती है।

आपको जानकारी दे दे कि इन मल्टीफेज इंक्लूजंस को देखने के लिये विशेष माइक्रोस्कोप की मदद ली जाती है। बता दे कि पन्ना मुख्यतया हरे रंग का होता है और इसका रंग इस कारण से हरा होता है क्योंकि इसमें क्रोमियम व वैनेडियम जैसे तत्वों होते है। वैसे बता दे कि ज्यादातर पन्ना कोयले की खान से प्राप्त किया जाता है और सबसे कीमती और प्रभावी पन्ना रत्न अमेरिका के कोलंबिया में पाए जाते हैं। इनकी सतहों की दरारों को दूर करने के लिए इसकी ऑयलिंग की जाती है इससे संरचना और अधिक सुधार जाती है।

जानकारी दे दे कि पन्ना रत्न की गुणवत्ता का निर्धारण 4 मापदंडों पर किया जाता है, जो कि रंग, आकार, स्पष्टता और कैरेट है। कार्ल्सबेड रत्न प्रयोगशाला ने 9.02 ग्राम का पन्ना प्राप्त किया है जो कि कैलिफोर्निया की कोस्टा मेसा खदान में निकला पाया गया है। बता दे कि स्पेक्ट्रोस्कोप के द्वारा इस एमरल्ड की जाँच की गई जिसमें पायरेट तथा कैलसाइट के गुण पाये गये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here