ज्योतिषीय अनुमान: 5 जून से 5 जुलाई तक तीन ग्रहण दे रहे भीषण विपदा का संकेत

0

ज्योतिषीय गणना के मुताबिक अगले एक महीने तक ग्रह नक्षत्रों में भारी उलटफेर देखने को मिल सकता हैं 5 जून से 5 जुलाई 2020 तक एक माह में तीन ग्रहण पड़ रहे हैं जो कि भीषण विपदा का संकेत दे रहे हैं ज्योतिष की गणना में ग्रहण के असर को बताती एक पुरानी कहावत है एक पाख दो गहना, राजा मरे या सेना, इस कहावत का मतलब यह हैं कि एक पखवाड़े यानी 15 दिन में दो ग्रहण होना या तो राजा की हत्या होती है या सेना मारी जाती है यानी भीषण विपदा का संकेत हैं। तो आज हम आपको लगने वाले ग्रहण का ज्योतिष अनुसार कैसा प्रभाव होगा इसके बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

इस बार 21 जून 2020 को सूर्य ग्रहण और 5 जुलाई को चंद्रग्रहण हैं जो करीब 15 दिनों में ही पड़ रहे हैं इससे भी अधिक चिंता का विषय यह हैं कि एक पखवाड़े में दो ग्रहण ही नहीं एक महीने में तीन ग्रहण होने जा रहे हैं जो कि ज्योतिष के अनुसार शुभ संकेत नहीं दे रहे हैं। ज्योतिष अनुसार एक महीने में तीन ग्रहण के साथ ही सूर्य, मंगल व गुरु ग्रहों का परिवर्तन व वक्री होने की वजह से भयंकर आपदा के संकेत मिल रहे हैं इन ग्रहण की वजह से कहा जा रहा हैं कि प्राकृतिक आपदाओं जैसे अत्याधिक वर्षा, समुद्री चक्रवात, तूफान, भूकंप और महामारी आदि से जन धन की हानि होने का खतरा बढ़ रहा हैं वही भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश को जून के अंति महीने और जुलाई में भयंकर बारिश की आशंका हैं इस साल मंगल जल तत्व की मीन राशि में पांच महीने तक बैठेंगे। ऐसे में बारिश असामान्य रूप से अत्यधिक हो सकती हैं और महामारी का भय रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here