तो क्या हमारा दिमाग 11 डायमेंशन में करता है काम

0
63

जयपुर। इस बात को हम जानते है कि हम तीन डायमेंशन में देख पाते हैं, जिसको हम थ्री डी भी कहते हैं। सापेक्षता के सिद्दांत के मुताबिक हम ब्रह्मांड में निवास करते हैं और वहां चार आयाम होते हैं लेकिन अभी तक तीन आयामों के बारे में ही हम जानते है। वैज्ञानिक कहते है कि हमारी सोच के बहुत आयाम होते हैं, लेकिन ये दिमाग की बनावट और क्षमता पर निर्भर करता है। इसी के विषय के बारे में शोधकर्ताओं ने हाल ही में ब्लू ब्रेन प्रॉजेक्ट में सफलता हासिल की है।

आपको इस बात पर यकिन होगा कि इन्होंने दिमाग की 11 डाइमेंशन को गणितीय आधार पर साबित कर दिया है। इस शोध से ज्ञात हुआ है कि हमारा दिमाग 11-डी मशीन की तरह काम करता है। नीला मस्तिष्क परियोजना के निदेशक एवं न्यूरोसाइंटिस्ट हेनरी मार्करम इस विषय के बारे में जानकरी देते हुए बताया है कि यह कल्पना से परे है कि हमने दिमाग के इतने बड़े रहस्य से पर्दा उठाया है इससे ये तो साबित होती है कि इंसान वाकई में बहुत ही सभ्य बनता जा रहा है।

शोधकर्ताओं ने इसके बारे में वादा किया है कि ये शोध दिमाग से संबंधित कई अवधारणोओं को बदलकर रख देगा। वैज्ञानिकों ने कहा कि मानव मस्तिष्क की क्षमता को वास्तविक रूप में मापना लगभग असंभव है, लेकिन फिर भी कुछ हद तक तो गणितीय सिमुलेशन तकनीक के द्वारा यह संभव हो पाया है। आपको जानकारी दे दे कि यह तकनीक एल्जेब्रिक टोपोलॉजी पर आधारित है। बता दे कि ये तकनीक में दिमाग के उत्तकों का वर्चुअल मॉडल तैयार करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here