तो इन समीकरणों ने दुनिया को सच्चाई से कराया वाकिफ़

0
73

जयपुर। कुछ समीकरणों से इस ब्रह्मांड के कई राज़ खुले है और यह काम विश्व के सर्वाधिक प्रतिभावान मस्तिष्को ने गणित के प्रयोग से किया है। इतिहास मे बारंबार यह प्रमाणित किया गया है कि मानव जाति के प्रगति पर्थ को परिवर्तित करने मे एक समीकरण पर्याप्त होता है। इन नियमों ने दुनिया को वास्तविकता से वाकिफ कराया और लोगों को कई भ्रमों से भी मुक्ति दिलाई है। तो जानिये वो कुछ समीकरण जिन्होंने पूरी दुनिया को बदल कर रख दिया।

·         न्युटन का गुरुत्वाकर्षण का नियम

न्युटन के इस नियम ने बताया कि ब्रह्मांड में ग्रह गति कैसे करते है, पृथ्वी पर तथा समस्त ब्रह्मांड मे गुरुत्वाकर्षण कैसे कार्य करता है। यह नियम उन्होने अपनी पुस्तक प्रिंसीपिया मे जुलाई 1687 को प्रकाशित किया था, 1905 मे आइंस्टाइन के सापेक्षतावाद के सिद्धांत के आने से पहले 200 वर्ष तक इसी नियम का प्रयोग किया जाता था। इसकी कहानी तो आपको बखूबी ज्ञात होगी कि न्यूटन ने किसी प्रकार से इस नियम का इजात किया था।

·         2.आइंस्टाइन का सापेक्षतावाद सिद्धांत

आइंस्टाइन ने कई ब्रह्मांड के राज़ खोले है और सबसे बड़ा योगदान अंतरिक्ष और समय को समझने में रहा है। उन्होने इस सिद्धांत को 1905 मे सापेक्षतावाद के सिद्धांत के रूप मे दुनिया के सामने प्रस्तुत किया और इस सिद्धांत ने भौतिकी के मार्ग को ही परिवर्तित कर दिया और ब्रह्मांड के भूतकाल, वर्तमान और भविष्य के बारे मे मानव की समझ को गहरा और भी कर दिया। आधुनिक काल के वैज्ञानिक न्यूटन और आइंस्टाइन के इन नियमों का पालन करते है लेकिन तकनीकी समझ से कई बार इन सिद्धांतों पर भी शंका होती रहती है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here