तो क्या सभी घड़ियां गलत समय बता रही है ?

0
43

जयपुर। हम सबने की घड़ीयां देखी है और इसका उपयोग भी करते है। आपने जानने कि कोशिश की है कि आखिर समय क्या है और किस लिए है क्यों है। और ये कैसे काम करती है। आपको बता दे कि सीज़ियम एक दुर्लभ धातु का परमाणु है जो परमाणुओं का एक प्राकृतिक गुण होता है। इसकी आवृत्ति इस कारण वो हमेशा कंपन करता रहता है। यह परमाणुओं का कम्पन अपने आप को दोहराने वाला है इसलिए यह एक प्राकृतिक घड़ी ही है। सीज़ियम परमाणुओं की यही आवृत्ति हमे आज विश्व का सबसे सटीक समय बताती है।

आपको बता दे कि जब हम सीज़ियम परमाणु पर ऊर्जा की बमबारी करते है तब हमारे लिए इस आवृत्ति को गिनना आसान हो जाता है जब हम इस आवृत्ति को गिनते है तो एक सेकंड में यह सीज़ियम परमाणु 9,192,631,770 बार कंपन करता है। आपको यह आश्चर्यजनक तथ्य है लगेगा कि हम लोगो की घड़ी इतनी सटीकता से समय को नही माप सकती इसलिए हमारी घड़ी कुछ महीनों में कुछ सेकंड खो देती है इसके साथ हम उन घड़ियों की भी बात कर रहे है जो 1 करोड़ वर्ष से समय को मापता आ रही है या समय को खोता आ रहा है।

फिर भी हम सैकड़ो वर्षो से निरंतर समय को सटीक मापने के लिए अपने उपकरणों में सुधार करते रहते है क्योंकि इस वक्त अच्छी तकनीक होने के बावजूद भी हम सटिक समय का पता नहीं लगा सकते है। वैसे जो घड़ियां हमेशा से चलती रही वो आगे भी चलेगी लेकिन वो हमे नहीं बता पायी की समय क्या है और हम क्या माप रहे है ? हम नही जानते की समय क्या है लेकिन समय बीतने का अनुभव हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है। समय की निरंतर टिक-टिक में अपना जीवन जीते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here