बाहुबली को टक्कर देने वाली फिल्म बना रहे डायरेक्टर सिसिर मिश्रा

0
109

जयपुर। हमारे देश में कई अलग अलग भाषाए बोली जाती है, और कई अलग अलग भाषायों में फिल्मे भी बनाई जाती है। आज हम ओडिया फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े इसे शख्स के बारे में आपको बताने वाले है जिन्होंने ओडिया फिल्म इंडस्ट्री को नई उच्चाई पर पहुंचाया है।

सिसिर मिश्रा को ओडिया फिल्म इंडस्ट्री का पिता माना जाता है, मिश्रा ही थे जो ओडिया फिल्म इंडस्ट्री में आधुनिक बदलाव लेकर आए है, और उन्हें इस काम के लिए देशभर में सम्मान मिला । इन्हें अपने काम के लिए पद्म श्री पुरूस्कार भी मिला है और इन्हें ओडिया फिल्म इंडस्ट्री का द्रोणाचार्य माना जाता है।

इन्होंने ‘सिंधु बिंदू’, ‘सुन सांसारा’, ‘सुर्ना सीता’, ‘सामया बड़ा बालावान’, ‘ई अमा संसार’, ‘बस्त्र हराना’, ‘सुन भौजा’ और ‘सबाता मा’ जैसी ओडिया फिल्में बनाई है।

सिसिर मिश्रा मुंबई में अपने परिवार के साथ रहते है। सिसिर बताते है की वो अपने बचपन से ही कहानीयां लिखते आ रहे है, वो कहते है की बचपन में जो उन्हें पैसे मिलते थे उससे फिल्म देखने चले जाते थे। वो कहते है की उन्हें हिंदी और तेलगु फिल्म देखना पसंद था।

मिश्रा कहते है की धीर बिस्वाल ने उनके जीवन पर काफी प्रभाव डाला और वो कहते है की उन्ही के कारन आज वो ओडिया फिल्म इंडस्ट्री में है। मिश्रा बताते है की जब वो अपने करियर की शुरुवात कर रहे थे तब उनके घर वालों ने उनका फिल्म डायरेक्टर बनना पसंद नहीं आया क्युकी उस वक्त फिल्म डायरेक्टर बनना कोई सफल करियर नहीं था।

आपको बता दे की मिश्रा ने कई हिंदी फिल्मे भी बनाई है और कई हिंदी फिल्मो के लिए काम भी किया है। और अब वो जल्द ही अपनी एक नई फिल्म लेकर आ रहे है।

उनकी ये फिल्म कोणार्क मंदिर, ‘लैंगुला नरसिंह देव’ पर आधारित है, जिसमे वो इसका इतिहास दिखा रहे है। आपको बता डी एकी इस फिल्म की कहानी उनकी पत्नी ने ही लिखी और वो पहले भी उमकी कई फिल्मो के लिए कहानी लिखा चुकी है। मिश्रा का कहना है की वो इस फिल्म में ऋतिक रोशन, अमिताभ बच्चन और हेमा मालिनी को कास्ट करना चाहते है।

इसके अलावा इस फिल्म को हिंदी और ओडिया भाषा में बनाया जाएगा और कहा जा रहा है की ये फिल्म बाहुबली में दिखाए गए प्रकार के विशेष प्रभावों के साथ यह एक मेगा फिल्म होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here