Mahashivratri special: शिवयोग और धनिष्ठा नक्षत्र में महाशिवरात्रि, होंगी सभी इच्छाएं पूरी

0

हिंदू धर्म पंचांग के मुताबिक हर मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि का व्रत किया जाता हैं मगर महाशिवरात्रि साल में केवल एक बार मनाई जाती हैं जो फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को पड़ती हैं इस बार यह तिथि 11 मार्च दिन ​गुरुवार को पड़ रही हैं महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूरे विधि विधान से साथ पूजा आराधना की जाती हैं मान्यता है कि महाशिवरात्रि के दिन व्रत रखने वालों को सौभाग्य, समृद्धि और संतान सुख की प्राप्ति होती हैं इस बार की महाशिवरात्रि कई मायनों में विशेष मानी जा रही हैं क्योंकि इस दिन कई शुभ संयोगों का निर्माण हो रहा हैं तो आज हम आपको महाशिवरात्रि के बारे में बता रहे हैं तो आइए जानते हैं।आपको बता दें कि 11 मार्च दिन गुरुवार को महाशिवरात्रि कई शुभ संयोगों में पड़ रही हैं इस दिन मकर राशि में एक साथ चार बड़े ग्रह होंगे जिसमें शनि, गुरु, बुध और चंद्रमा हैं पंचांग के मुताबिक महाशिवरात्रि के दिन विशेष फलकारी धनिष्ठा नक्षत्र भी हागा। इस दिन सुबह 9.25 मिनट तक कल्याणकारी शिव योग भी बन रहा हैं ऐसी मान्यता है कि इस योग में किया गया हर शुभ कार्य सफल होता हैं।
पंचांग के मुताबिक शिव योग के बाद सिद्ध योग आरंभ हो जाएगा। इस योग में भी कोई भी काम शुरू करके ​कार्यसिद्धि प्राप्त की जा सकती हैं। इसके अलावा इस दिन आंशिक काल सर्पयोग का भी निर्माण हो रहा हैं ऐसे अवसर पर जिन लोगों की कुंडली में कालसर्प योग हैं वे इसकी शांति के लिए पूजा पाठ भी इस दिन करवा सकते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here