कृष्ण भक्ति से मिलेगी शनि कृपा

0

वैसे तो सभी शनिमहाराज से डरते हैं। जैसे ही शनिदेव का नाम आता हैं हर जातक के मन में डर और भय बैठ जाता हैं। क्योंकि शनिदेव दंड देते हैं। बता दें,कि शनिमहाराज को न्याय का देवता माना जाता हैं। वही व्यक्ति के कर्मों के अनुरूप से उसे दंड देते हैं। आपको बता दें,कि खुद भगवान भोलेनाथ ने ही सभी नवग्रहों में से शनिदेव को न्यायाधीश का कार्य सौंपा हैं।

वही यह भी माना जाता हैं,कि जब शनिमहाराज की कृपा किसी मनुष्य पर होती हैं। तो उसके सभी कष्ट और संकट दूर हो जाते हैं जीवन में उसे हर सुख प्राप्त होता हैं। क्योंकि स्वयं शनिदेव ही उनके कष्टों का निवारण करते हैं। व्यक्ति के जीवन में किसी चीज की कोई कमी नहीं रहती हैं। वही जब शनिमहाराज अपना प्रकोप किसी पर दिखाते हैं। तो उस व्यक्ति के दिन बुर शुरू हो जाते हैं। तो वही कई संकटों और कष्टों का सामना करता हैं। मगर शनिदेव के कष्टों से बचने के लिए भगवान श्री कृष्ण हैं। सच्चे दिल से भगवान श्री कृष्ण की उपासना करने वाले पर शनिदेव कभी अपना प्रकोश नहीं दिखाते हैं।

आपको बता दें,कि शनिदेव बचपन से ही कृष्ण भगवान के परम भक्त कहे जाते हैं, पुराणों के मुताबिक भगवान श्री कृष्ण के दर्शन के लिए शनि देव ने कोकिला वन में तपस्या की थी। वही भगवान कृष्ण ने भी कोयल के रूप में ही शनिदेव को दर्शन दिए थे। तभी से श्री कृष्ण के किसी भी भक्त को शनिदेव कोई परेशानी नहीं देते हैं,उसके सभी कष्टों को शनिदेव दूर कर देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here