शाहिद के साथ कैमेस्ट्री बनाने में नहीं आई कोई मुश्किल, पसंद है बैड बॉयज- कियारा आडवाणी

0
85

बॉलीवुड की एक्ट्रेस कियारा आडवाणी इन दिनों अपनी फइल्म कबीर सिंह को लेकर चर्चा में है आए दिन कियारा अपनी फिल्म के एक के बाद एक खुलासे को लेकर सुर्खियों में छाई रही है।इसे लेकर हाल ही में कियारा ने एक इंटरव्यू में शिरकत की।जिसमें कियारा ने अपनी लस्ट स्टोरीज बेव सीरिज से लेकर अपने बॉलीवुड करियर में आए बदलाव के बारे में बात की।

एक आउटसाइडर एक्ट्रेस होते हुए कियारा कहती है कि जी, ‘लस्ट स्टोरीज’ के बाद मैं निश्चित तौर पर यह कह सकती हूं कि करण ऐसे शख्स हैं, जिनसे मैं हर छोटी-बड़ी चीज के लिए सलाह लेती हूं। जैसे प्रमोशन के टाइम क्या पहनूं? या कौन सी फिल्म साइन करूं? मैं मानती हूं कि वे जो भी मुझसे कहते हैं, एक दोस्त, एक मेंटॉर के तौर पर दिल से कहते हैं, इसलिए मैं उनकी बातों को बहुत सीरियसली भी लेती हूं।

इस दौंरान कियारा ने शाहिद के साथ अपनी कैमेस्ट्री पर भी बात की- हमारी बॉन्डिंग खाने पर हुई। हालांकि, शाहिद वेजिटेरियन हैं और मैं नॉन वेजिटेरियन, लेकिन मुझे वेज खाना बहुत पसंद है। हम दोनों का खाना काफी एक जैसा होता है। दोनों को घर का नॉन ऑयली खाना पसंद है। कुछ लोग जैसे पिज्जा देखकर खुश हो जाते हैं, हम लौकी और भिंडी देखकर खुश हो जाते हैं। मैं ऐसे किसी और इंसान को नहीं जानती, जो लौकी देखकर खुश होता है। मुझे लगता था कि सिर्फ मैं ही ऐसी हूं, पर मुझे शाहिद के रूप में एक और ऐसा साथी मिला है, जिसे लौकी, कद्दू, भिंडी यह सब चीजें पसंद हैं। उस पर हमारी बहुत बॉन्डिंग हुई। बाकी वह बहुत ईमानदार ऐक्टर हैं, हमारे बीच एक नैचरल केमिस्ट्री हो गई। हमें कोशिश करने की जरूरत नहीं पड़ी।

अपने रिलेशन के बारे में कियारा कहती हैकि मैं उम्मीद करती हूं कि कोई मुझे इतना प्यार करे। हालांकि, मेरे हिसाब से एक रिलेशनशिप में दो लोगों को बराबर होना चाहिए। कबीर और प्रीति के बीच चूंकि सीनियर-जूनियर वाला रिश्ता भी होता है, शायद इसलिए ऐसा नहीं है, पर प्रीति को अच्छा लगता है कि कबीर उसे प्रॉटेक्ट करे। वह उसकी कंपनी में सेफ महसूस करती है, लेकिन उसमें भी एक ग्राफ है। मुझे लगता है कि प्रीति ज्यादा स्ट्रॉन्ग है, वह शांत रहती है, लेकिन जब वह बोलती है, तो खतरनाक बोलती है।

फिल्म कबीर सिंह में सीधी साधी लड़की का किरदार निभाने और एक वॉयलेंट लड़के से प्यार करने पर कियारा ने कहा कि दुर्भाग्यवश, सच बात यह है कि लड़कियों को ऐसे बैड बॉयज ही पसंद होते हैं, कम से कम क्रश के तौर पर। फिर, कबीर बेवजह विद्रोही या रेबेल विदाउट अ कॉज नहीं है। वह पागलों जैसा वॉयलेंट नहीं है। वह बहुत नॉर्मल है। हां, वह पागल बन जाता है, जब प्रीति उसकी जिंदगी में नहीं होती है, लेकिन उसका प्रीति के लिए प्यार बहुत सच्चा है, जो प्रीति को दिखता है। हां, उसमें कमियां हैं, पर कमियां सभी में होती हैं। कोई भी परफेक्ट नहीं होता है। फिर, एक मौके पर प्रीति उसे छोड़ ही देती है न, एक पॉइंट पर वह स्टैंड लेती है। फिल्म आज रिलीज हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here