तीन बार की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित दूसरी राजनीतिक पारी में पराई दिखीं

0
70

जयपुर।  दिल्ली की टीम पर मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित अपनी दूसरी राजनीतिक पारी में अपनों के बीच पराई दिखाई दे रही थी पार्टी में उनका कद और 10 जनपथ तक बैठक में उन्हें उम्र के इस पड़ाव में दूसरी राजनीतिक पारी खेली दो अहम मौके की पार्टी जो करिश्मा के नेतृत्व में दिखाना चाह रहा था दोनों बार अंजाम तक नहीं पहुंच सका.

हकीकत में भी उन्होंने अपनों की बार-बार गिरते स्वास्थ्य और भूलने को लेकर लग रहे आरोपों पर कई बार सफाई देनी पड़ी नई दिल्ली के प्रभारी पीसी चाको ने 3 दिन पहले ही मिली आखिरी चिट्ठी भी शायद उनका मनोबल तोड़ने वाली और राजनीतिक झटका देने वाली साबित हुई होगी और इसी मार्च को ऑन 80 साल भी पूरे कर लिए थे.

आपको बता दें कि कांग्रेस नेतृत्व ने शीला दीक्षित की क्षमता को देखते हुए ही उन्हें यूपी की राजनीति से दिल्ली लाकर चुनाव लड़ा था और खुद को स्थापित किया था वहीं 2014 में दिल्ली हारने के बाद शीला दीक्षित ने खुद को राजनीतिक तौर पर समेट लिया था और 2017 में उत्तर प्रदेश विधानसभा सीट कांग्रेस के सामने ऐसा कोई चेहरा नहीं था जिसे आगे चुनाव लड़ा जा सके.

लेकिन उत्तर प्रदेश में गठबंधन के चलते उन्हें अपने पैर खींचने पड़े और पार्टी ने भी उन्हें घर बैठा दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here