सीवोटर एग्जिट पोल : राजग को 287 सीटें, संप्रग को 128

0
37

आईएएनएस-सीवोटर एग्जिट पोल के नतीजे बता रहे हैं कि नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (रागज) लोकसभा चुनाव 2019 में 287 सीटें जीतकर दोबारा सत्ता में वापसी करने जा रही है।

चुनाव के नतीजे आने से पूर्व जारी इस सर्वेक्षण के अनुसार, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 236 सीटें मिलने की संभावना है।

पिछले आम चुनाव 2014 में राजग को 337 सीटें मिली थीं जिनमें भाजपा को 283 सीटों पर जीत मिली थी।

सर्वेक्षण के अनुसार, कांग्रेस की अगुवाई में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) को 128 सीटें मिल सकती हैं जिनमें कांग्रेस को 80 सीटें मिलने की संभावना है। पिछले आम चुनाव 2014 में संप्रग को 59 सीटें मिली थीं, जिनमें कांग्रेस को महज 44 सीटें मिली थीं।

यह अनुमान 19 मई के शाम चार बजे तक प्राप्त आंकड़ों के आधार पर है। आईएएनएस-सीवोटर के इस सर्वेक्षण में देशभर से करीब पांच लाख नमूने लिए गए थे।

सर्वेक्षण के अनुसार, उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) गठबंधन को 40 सीटें मिल सकती हैं जबकि भाजपा को 38 सीटें मिलने की संभावना है। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने प्रदेश की 71 सीटों पर जीत हासिल की थी।

देशभर में वोटों की बात करें तो राजग को 42.3 फीसदी वोट मिलने की संभावना है। वहीं, संप्रग को 29.6 फीसदी जबकि अन्य को 28.1 फीसदी वोट मिल सकता है।

राजग को सबसे ज्यादा बढ़त पश्चिम बंगाल में मिलने की संभावना है जहां पिछले लोकसभा चुनाव में प्राप्त दो सीटों से इसका आंकड़ा बढ़कर 11 सीटों तक जा सकता है।

इसके बाद ओडिशा में भी राजग को नौ सीटों का फायदा मिल सकता है और इसकी सीटों का आंकड़ा प्रदेश में 10 तक जा सकता है।

उधर, बिहार में राजग को 33 सीटें मिलने की संभावना है जिनमें 13 सीटों पर भाजपा को जीत मिल सकती है। राजग के अन्य सहयोगी जनता दल-युनाइटेड (जदयू) और लोक जनतांत्रिक पार्टी (लोजपा) को 20 सीटें मिल सकती हैं।

पिछले लोकसभा चुनाव 2014 में प्रदेश में भाजपा को 22, लोजपा को 6 और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी यानी रालोसपा (उस समय राजग में शामिल थीं) को तीन सीटें मिली थीं।

गैर-राजग और गैर-संप्रग दलों में उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन को 40 सीटें, पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को 29 सीटें मिलने की संभावना है। पिछले लोकसभा चुनाव में तृणमूल को 34 सीटें मिली थीं।

आंध्रप्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस को 11 सीटें मिल सकती हैं और तेदेपा को 14 सीटें मिलने की संभावना है।

ओडिशा में बीजू जनता दल (बीजद) को 11 सीटें मिल सकती हैं।

अगर भाजपा चुनाव के बाद वाईएसआर कांग्रेस, बीजद, टीआरएस से गठबंधन करती है तो राजग की सीटों का आंकड़ा 323 तक जा सकता है।

वहीं, संप्रग अगर चुनाव के बाद एआईयूडीएफ, एलडीएफ, महागठबंधन और तृणमूल कांग्रेस के साथ गठबंधन करता है तो इसकी सीटों की संख्या 203 तक जा सकती है।

चुनाव के नतीजे 23 मई को आने वाले हैं।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleटेनिस : जोकोविक को हरा नडाल ने जीता इटली ओपन खिताब
Next articleतमिलनाडु में संप्रग को 27, राजग को 11 सीटें : सीवोटर एग्जिट पोल
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here