मध्य प्रदेश में संबल योजना में घोटाला, एफआईआर की तैयारी

0
107

मध्य प्रदेश में भाजपा के शासनकाल में अस्तित्व में आई संबल योजना में 71 लाख से अधिक अपात्र लाभार्थियों का खुलासा हुआ है। इस मामले में राज्य सरकार घोटाले में शामिल लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने जा रही है। मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्षा शोभा ओझा ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा, “पिछली भाजपा सरकार द्वारा प्रारंभ की गई संबल योजना में भ्रष्टाचार हुआ है। इस योजना के लगभग दो करोड़ लाभार्थियों में से 71 लाख अपात्रों के नाम हैं।”

ओझा ने सरकार की कार्रवाई की पुष्टि करते हुए कहा, “अपात्र नामों को काटने के साथ ही, घोटालेबाजों पर एफआईआर दर्ज कराने का प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है।”

ओझा ने आगे कहा, “पिछली शिवराज सरकार द्वारा जनहित के नाम पर प्रारंभ की गई संबल योजना का लाभ, वास्तविक पात्रों की अपेक्षा लाखों की संख्या में, उन चहेतों और भाजपा कार्यकर्ताओं को दे दिया गया, जो न केवल अपात्र थे, बल्कि उनमें से कई तो आयकर दाता भी थे।”

ओझा ने कहा, “प्रदेश के लाखों करदाताओं के पैसे से ऐसे लोगों को लाभान्वित किया गया, जो पहले से ही आर्थिक रूप से सक्षम थे और जिन्हें किसी सहायता की आवश्यकता नहीं थी। लेकिन भाजपा के चहेते होने के कारण उन्हें गरीबों के हक के पैसों का बलात् गबन करने दिया गया।”

राज्य में कमलनाथ सरकार द्वारा कई मामलों की जांच का हवाला देते हुए ओझा ने कहा, “पिछली भाजपा सरकार के द्वारा किए गए सभी घोटालों की एक के बाद एक जांच शुरू कर, कमलनाथ सरकार ने यह सिद्घ कर दिया है कि जनता के पैसों की बंदरबांट और संगठित लूट के वह सख्त खिलाफ हैं और संबल योजना के घोटालेबाजों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की बात कहने के साथ ही सरकार का यह कथन भी स्वागत योग्य है कि यदि जरूरत पड़ी तो अपात्रों को जारी की गई उस रकम को भी वसूला जाएगा, जिसके वास्तविक हकदार प्रदेश के मेहनतकश गरीब, मजलूम और मजदूर थे।”

इस बीच, शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाया है कि वह गरीबों को फायदा नहीं देना चाहती, इसलिए घोटाले का आरोप लगा रही है। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने गरीबों का गलाघोंट दिया है।

ज्ञात हो कि पूर्ववर्ती शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने राज्य के गरीब परिवारों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के मकसद से संबल योजना को अमल में लाया था। कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान अपने वचन पत्र में वादा किया था कि सत्ता में आने पर इसकी जांच कराई जाएगी।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleज्योतिष संबंध: केले का ज्योतिष से क्या है कनेक्शन, जानिए इसके चमत्कारिक प्रयोग
Next articleअमेरिका में भारी बर्फबारी के कारण 200 उड़ाने रद्द, अमेरिकी शहरों में जमीं मोटी बर्फ की चादर
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here