एसबीआई ग्राहकों को भेज रहा है ये खास SMS! नहीं मानने पर बंद हो सकता है अकाउंट

0

भारतीय स्टेट बैंक यानी एसबीआई ने एक नई पहल शुरू करते हुए अपने सभी ग्राहकों को मोबाइन पर मैसेज भेजकर केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए नया कदम उठाया है । इसके बारे मे बैंक ने कहा है कि यदि कोई भी ग्राहक अपना केवाईसी पूरा नहीं करता है तो वह अपने खाते से लेन—देन की प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पाएगा । बता दें कि हाल ही में आरबीआई ने कहा ​था कि हर व्यक्ति को जिसका खाता बैंक में है चाहे वो किसी भी बैंक में क्यों ना हो उसे केवाईसी जरूर पूरी करनी होगी नहीं तो उसका खाता बंद कर दिया जाएगा .

बताया जा रहा है कि , बैंक अपने ग्राहकों को भेज रहा है ये SMS- भारतीय रिजर्व बैंक के दिशा-निर्देशों के अनुसार आपके खाते में केवाईसी दस्तावेजों को अपडेट किया जाना है. कृपया नवीनतम केवाईसी दस्तावेजों के साथ अपनी एसबीआई शाखा में जाकर संपर्क करें.

आपको बता दें कि, केवाईसी का पूरा नाम Know Your Customer है जिसे यदि हम साधारण भाषा में कहें तो उसका मतलब होता है कि अपने ग्राहक को जाने । बिना केवाईसी निवेश मुमकिन नहीं है, इसके बगैर बैंक खाता भी खोलना आसान नहीं है.

यदि आपको बैंक में खाता खुलवाना, म्यूचुअल फंड में निवेश, बैंक लॉकर्स लेने पर, या फिर पुरानी कंपनी की पीएफ राशि निकालनी है तो इसके लिए आपको अपने खाते में केवाईसी पूरी करनी होगी, तभी आप इन सबका पूरा उपयोग कर सकेंगे ।

केवाईसी के लिए जरूरी दस्तावेज़ – एसबीआई की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, केवाईसी के लिए ये हैं :

व्यक्तियों के लिए :—

पासपोर्ट

मतदाता पहचान पत्र

ड्राइविंग लाइसेंस

आधार पत्र/कार्ड

नरेगा (एनआरईजीए) कार्ड

पेंशन भुगतान आदेश

डाकघरों द्वारा जारी पहचान पत्र

ऐसे जन प्राधिकरण संस्थाओं द्वारा जारी पहचान पत्र जो अपने द्वारा जारी पहचान पत्रों का रिकॉर्ड रखती हैं.


पहचान पत्र का प्रमाण (सूची-1) :—

पासपोर्ट

मतदाता पहचान पत्र

ड्राइविंग लाइसेंस

आधार पत्र/कार्ड

नरेगा (एनआरईजीए) कार्ड

पेंशन भुगतान आदेश

डाकघरों द्वारा जारी पहचान पत्र

पैन (पी ए एन) कार्ड

जन प्राधिकरण द्वारा जारी पहचान पत्र

यूजीसी/एआईसीटीई द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय द्वारा जारी प्रमाण पत्र जिसपर फोटो लगा हो.

सरकार/सेना का पहचान पत्र:—

विश्वसनीय नियोक्ताओं द्वारा जारी पहचान पत्र.

पते का प्रमाण (सूची-2):—

टेलीफोन बिल (जो 3 महीने से अधिक पुराना न हो)

बैंक खाता विवरण (जो 3 महीने से अधिक पुराना न हो)

मान्यता प्राप्त सरकारी प्राधिकारी द्वारा जारी पत्र

बिजली का बिल (जो 6 महीने से अधिक पुराना न हो)

राशन कार्ड

विश्वसनीय नियोक्ताओं द्वारा जारी पहचान पत्र

आयकर/सम्पदा कर मूल्यांकन आदेश

क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट (जो 3 महीने से अधिक पुराना न हो)

पंजीकृत लीव & लाइसेन्स करार /सेल डीड/लीज एग्रीमेंट की प्रतियां

विश्वविद्यालय/संस्था के हास्टल वार्डेन द्वारा, अपने यहाँ रहने वाले छात्र को जारी पत्र, जिसे रजिस्ट्रार, प्रिंसपल/ डीन –छात्र कल्याण द्वारा प्रति हस्ताक्षरित किया गया हो.

छात्रों के मामले मे, यदि वे अपने नजदीकी संबंधी के साथ रह रहे हों तो उस संबंधी की घोषणा के साथ उनका पहचान पत्र और पता प्रमाण पत्र.

अवयस्क (नाबालिग)

अगर अवयस्क 10 वर्ष से कम आयु का है तो खाता परिचालित करने वाले व्यक्ति का पहचान पत्र लिया जाएगा.

अगर अवयस्क स्वयम खाता परिचालित करने लायक है तो पहचान पत्र तथा पता सत्यापन की वही प्रक्रिया जो किसी अन्य व्यक्ति के मामले मे लागू होती है.

SHARE
Previous article46 साल की उम्र में मां बनीं ये अभिनेत्री, मिलिए इस साल के नन्हें-मुन्ने सेलेब्रिटीज़ से
Next articleमात्र 2 मिनट में लडकियों का प्राइवेट पार्ट हो जाएगा चमकदार, बस करना होगा ये छोटा सा काम…
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here