श्रावण मास 2020: भगवान शिव से जुड़े इन रहस्यों को नहीं जानते होंगे आप

0

हिंदू धर्म का पवित्र महीना सावन चल रहा हैं तो भक्त अपने भगवान शिव से जुड़ी हर बात को जानने के लिए उत्सुक होंगे। इसलिए सावन में आह हम आपको शिव के बारे में ऐसी कुछ खास बातें बातने जा रहे हैं जिनके बारे में आपको शायद ही पता होगा, तो आइए जानते हैं।

शिव का विवाह राजा दक्ष की पुत्री सती से हुआ था। मगर उनके पिता के द्वारा भगवान शिव का अपमान करने पर उन्होंने यज्ञकुंड में अपनी आहुति दे दी थी। उसके बाद उन्होंने पार्वती जी के रूप में राजा ​हिमालय के यहां जन्म लिया और माता पार्वती के साथ शिव का विवाह हुआ था। वही ऐसा कहा जाता हैं कि गंगा, काली और उमा भी भगवान शिव की ही ​पत्नियां थी। शिव से विवाह के बाद दोनों की शक्ति से कार्तिकेय का जन्म हुआ था। श्री गणेश जी माता पार्वती के पुत्र थे। वे माता के उबटन से जन्में थे। भगवान शिव के तेज से जलंधर उत्पत्ति हुई थी। तो वही भूमा ने शिव जी के ललाट की पसीने की बूंद से जन्म दिया था। भगवान शिव और मोहिनी के संयोग अय्यप्पा का जन्म हुआ था। शिव शंकर के दो और पुत्र थे जिनका नाम अंधक और खुजा था। इन दोनों के बारे में कही पर ज्यादा उल्लेख नहीं हैं।

वही सप्तऋषियों को शिव का प्रारंभिक शिरू कहा जाता हैं इन ऋषियों के द्वारा ही शिव के ज्ञानका प्रचार पूरे पृथ्वी लोक पर हुआ। कहा जाता हैं कि सर्वप्रथम शिव से ही गुरु और शिष्य के पवित्र रिश्तें की शुरुआत हुई थी। वशिष्ठ और अगस्त्य मुनि का नाम भी शिव के शिष्यों में लिया जाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here