सऊदी अरब के नए नोट को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने क्यों जताई नाराजगी, ये वजह आई सामने…

0

हाल ही में सऊदी अरब ने एक नया बैंक नोट जारी किया है जिसे ले कर भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। सऊदी ने इस नोट में हमारे देश की सीमाओं को गलत दिखाया है, हालाँकि इस बात को ले कर भारतीय विदेश मंत्रालय ने पहले ही सऊदी अरब को अपनी चिंता बता दी है साथ ही इसे जल्द से जल्द टिक करने के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए भी कहा गया है। विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को बताया की सऊदी ने नए 20 रियाल के नोट पर जारी किये गए विश्व के मैप में जम्मू कश्मीर के साथ लेह लदाख को भारत के हिस्से के रूप नहीं दिखाया गया है। हलाकि इस नोट को सऊदी द्वारा जी-20 समूह की अध्यक्षता के मोके पर जारी किया गया था।

अनुराग श्रीवास्तव जो की विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता है ने कहा कि भारत ने सऊदी अरब से इस मामले में जरूरी कदम उठाने को कहा है और साथ ही हमने उन्हें साफ़ कर दिया है की जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का पूरा हिस्सा भारत का अभिन्न अंग है। श्रीवास्तव ने एक रिपोर्टर की सवाल पर कहा की , ‘आप जिस नोट की बात कर रहे हैं उसे हमने देखा है जिसमें भारत की सीमाओं को गलत दिखाया गया है। नोट को सऊदी अरब के मॉनिटरी अथॉरिटी ने 24 अक्टूबर को सऊदी द्वारा जी-20 की अध्यक्षता करने के अवसर पर जारी किया था।’

श्रीवास्तव ने साफ़ किया कि संघ शासित जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का संपूर्ण हिस्सा भारत का अभिन्न हिस्सा है।’ हलाकि मैप में गिलगिट बाल्टिस्तान सहित पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भी पाकिस्तान का हिस्सा नहीं दिखाया गया है। पाकिस्तान हमेशा से सऊदी अरब को अपना महत्वपूर्ण सहयोगी मानता है और पाकिस्तान के मैप से भी पीओके को हटाए जाने को इस्लामाबाद में कई लोग इसे अपने देश के लिए झटका के तौर पर देख रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here