संक्रांति स्पेशल :- तिल का हलवा जो सबके मन को भाए ।

संक्रांति का पर्व हो और तिल की बात न चले यह तो हो ही नही सकता । सर्दियों में आने वाला यह पर्व अपने साथ कई तरह की खासियत लिए हुए होता है

0
126

जयपुर । संक्रांति का पर्व हो और तिल की बात न चले यह तो हो ही नही सकता । सर्दियों में आने वाला यह पर्व अपने साथ कई तरह की खासियत लिए हुए होता है । कई प्रान्तों में यह पर्व अलग अलग तरह से मनाया भले ही जाता है पर एक चीज़ हैं जो हर प्रांत को एक साथ जोड़ कर रखती है इस दिन हर जगह पर एक चीज़ का सेवन जरूर से जरूर किया जाता है ।  वह है तिल । जी हाँ तिल एक ऐसी चीज़ है जिसका सेवन इस दिन हर जगह चाहे अलग अलग तरीके से किया जाता हो पर किया जरूर जाता है , पंजाब में हो या राजस्थान में महाराष्ट्र में हो गुजरात में इस का सेवन इस दिन करना बहुत ही शुभ माना जाता है ।

आज हम इस पर्व पर आपके लिए कुछ खास ले कर आए हैं । आज हम बात कर रहे हैं एक ऐसी रेसेपी की जो इस दिन को आपके लिए और भी खास बना देगी । वह कैसे यही सोच रहे हैं ना आप ? अरे भई जब पर्व ऐसा है तो घर परिवार साथ तो होगा ही साथ ही आपके दोस्त और ऑफिस के कुछ कलिग्स भी होंगे अब उनके सामने वही पुराने तिल के लड्डू या पापड़ आप रख देंगे तो  वह भी इस से  बोरे हो जाएँगे तो आज हम आपके लिए उनको कुछ अलग खिला कर खुश करने का रास्ता लेकर हाजिर हुए हैं । आज हम आपके सामने तिल के हलवे की रेसेपी ले कर आए हैं आइये जानते हैं इसको बनाने की विधि ।

इसके लिए जिस सामाग्री की आवश्यकता है वह है :-

½ कप तिल

½ कप गुड

¼ कप घी

¼ कप सूजी

¼ चम्मच इलायची का पाउडर

हलवा बनाने का तरीका :-

सबसे पहले तिल को एक कप पानी में भिगोकर रात भर के लिए रख दें।
सुबह पानी निकाल कर  छान लें ।
तिल को मिक्सर में बारीक पीस लें ।
कड़ाही में घी गर्म कर लें । इसमें सूजी डालकर अच्छे से  भून लें।
इसके बाद कड़ाही में पिसी तिल डालकर लगातार चलाते हुए भूनें। जब तिल सुनहरी हो जाए तो इसमें 1/2 कप गरम पानी डालकर मिक्स करें। गुड़ मिलाकर 4-5 मिनट तक पकाएं । जब गुड़ पानी छोड़ने के बाद सूख जाए तो हलवे में इलायची  मिला लें । तिल का हलवा को आंच से उतार लें ।
बारीक कटे मेवों से गार्निश कर गर्मागर्म हलवा खाएं और खिलाएं ।

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here