RSS चीफ मोहन भागवत बोले- विश्व में सबसे ज्यादा सुखी मुसलमान भारत में मिलेगा, क्योंकि

0

जयपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि किसी के प्रति कोई घृणा न होने पर देश में संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन तथा उसे बेहतर भविष्य की ओर ले जाने के वास्ते देश और पूरे समाज को संगठित करना उन्होंने कहा कि नायक की केवल हिंदू समुदाय को बल्कि सभी समुदायों को उन्होंने कहा कि मारे मारे यहूदी फिरते हैं उनको भारत में आश्रय मिला है.

आपको बता दें कि प्रवासियों की पूजा और मूल धर्म केवल भारत में सुरक्षित महसूस कर रहे हैं उन्होंने कहा कि आर एस एस की शीर्ष निर्णय निर्धारण संस्था अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के मद्देनजर भुवनेश्वर में बुद्धिजीवियों की सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही उन्होंने कहा कि समाज को एकजुट करना आज आवश्यक हो गया और सभी वर्गों को एक साथ आगे बढ़ना चाहिए तथा आर एस एस को इसी दिशा में काम करना चाहिए और वह इसी दिशा में आज काम कर रही है.

 

आपको बता दें कि आर एस एस के प्रमुख मोहन भागवत द्वारा कहीं बाहर विवादित बयान आते रहे हैं और कई मौकों पर ऐसे बयान भी आए हैं जहां पर उन्होंने सराहना पाई है. वहीं इस मौके पर उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी किसी के प्रति कोई घटना नहीं है हम एक बेहतर समाज बनाने के लिए हमें एक साथ आगे बढ़ना चाहिए जो देश में बदलाव ला सके और उससे विकास में लोगों को मदद मिल सके.

ओडिशा के 9 दिन के दौरे पर आए मोहन भागवत ने कहा कि यह हमारी इच्छा है कि आरएसएस ठप्पा हट जाए और आर एस एस तथा सामाजिक समूह के तौर पर काम करें चलीसा राष्ट्रीय समाज को दे भारत की विविधता की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि पूरा देश एक सूत्र में आज बंधा हुआ नजर आता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here