फूडपांडा इंडिया डिलिवरी नेटवर्क पर करेगी 400 करोड़ रुपये का निवेश, जानिए !

0
164

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि फूड ऑडरिंग और डिलिवरी चेन फूडपांडा इंडिया ने सोमवार को कहा कि वह अपने नेटवर्क को मजबूत बनाने के लिए अगले 12 से 15 महीनों में 400 करोड़ रुपये का निवेश करेगी और 25,000 डिलिवरी राइडर्स को भर्ती करेगी। यहां जारी कंपनी के बयान के मुताबिक, यह निवेश प्रौद्योगिकी और लॉजिस्टिक नेटवर्क के विस्तार के लिए किया जाएगा, जिससे ग्राहकों के लिए बढ़िया सेवा की सुरक्षा हो सकेगी।

इसके आगे फूडपांडा इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रणय जिवराजका ने बताया, “प्रौद्योगिकी द्वारा समर्थित एक मजबूत वितरण पारिस्थितिकी तंत्र बनाना, भारतीय खाद्य तकनीक उद्योग की सबसे मूलभूत आवश्यकताओं में से एक है। हमने फूडपांडा में इसकी पहचान की है, इसलिए सभी मेट्रो और प्रमुख शहरों में हमारी डिलिवरी नेटवर्क को मजबूती प्रदान करने के लिए हम 400 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।”

इसके आगे उन्होंने कहा, “हम 25,000 डिलिवरी राइडर्स की भर्ती कर अपनी कनेक्टिविटी का भी विस्तार करेंगे।” साल 2017 के दिसंबर में ओला ने फूडपांडा का अधिग्रहण किया था और इसकी मूल कंपनी एएनआई टेक्नॉलजीज में 1,300 करोड़ रुपये निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई थी।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleइंडोनेशिया की ये अनोखी लाइब्रेरी जो बनी है आइसक्रीम के कप से
Next articleबॉक्स आॅफिस पर अक्षय कुमार की पैडमैन का जलवा, कर रही धमाकेदार प्रदर्शन
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here