बरसात के मौसम में बच्चों में बढ़ती निमोनिया की बीमारी, इस डाइट से करें बच्चों का बचाव

0

जयपुर।इस समय बरसात का दौर शुरू हो चुका है और ऐसे में इस मौसम में बच्चों को बारिश में खेलना और भीगना काफी अच्छा लगता है।लेकिन इससे बच्चों को सर्दी-जुकाम होने की संभावना अधिक रहती है और यह बढ़कर बच्चों में निमोनिया की बीमारी भी बन सकती है।निमोनिया एक श्वसन संबंधी बीमारी है, जो फेफड़ों में सूजन के कारण होती है।

जिससे सांस लेने में समस्या होती है। वहीं इसके अन्य लक्षणों के तौर पर बच्चों में ठंड लगना,खांसी और बुखार जैसी परेशानियां होने भी दिखाई देती है।बच्चों को निमोनिया की बीमारी से बचाने के लिए इस मौसम में डाइट का खास ध्यान रखना आवश्यक है।

बच्चों के बरसात में भीग जाने के बाद निमोनिया होने से बचाने के लिए आप बच्चों को पुदीना, नीलगिरी और मेथी की बनी चाय का सेवन करवाएं।इससे वायरल इंफेक्शन का खतरा कम होता है और यह हर्बल टी गले के इंफेक्शन को दूर करने में मदद करती है।बच्चों को निमोनिया की बीमारी से दूर रखने के लिए उनकी डाइट में प्रोटीन युक्त आहार को अवश्य शामिल करें।

निमोनियों से बच्चों केा दूर रखने के लिए आप डाइट में ड्राई फ्रूट्स, नट्स, सीड्स, दाले, व्हाइट मीट और मछली को शामिल कर पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन प्राप्त कर सकते है।इन पोषक तत्वों में प्रोटीन के साथ एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाएं जाते है जो हमारे शरीर को वायरल इंफेक्शन के खतरो से बचाने में मदद करते है।

इसके अलावा आप बच्चों के बरसात में भींग जाने के बाद निमोनिया के संक्रमण से बचाने के लिए रात को सोने से पहले दालचीनी को पीस कर इसमें शहद मिला कर बच्चों को सेवन करवाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here