अमीरों के और भी अमीर हो जाने का ये रहा सबूत

0
44

अमीर वही होते हैं, जिनके पास लग्ज़री गाड़ियां, रहने के लिए विला और खाने के लिए पांच सितारा रेस्टॉरेंट हो। भारत में अमीरों के बारे में यही ख्याल तो है सबका। और ऐसा है भी। किसी के दादा अमीर हों तो उसके पोते के और भी अमीर होने की संभावना होती है। अभी एक सर्वे आया था कि भारत की कुल संपत्ति का 99 प्रतिशत देश की आबादी के 1 प्रतिशत के पास है। जिसका मतलब ये हुआ कि बाकी के 1 प्रतिशत के पास बाकी के 1 प्रतिशत पैसे हैं।money

ऑक्सफैम इंडिया की एक रिपोर्ट आई है। इस रिपोर्ट के आने के बाद गरीबों की लाचारी देश में क्या है, इसको पता करने की ज़रुरत नहीं है। रिपोर्ट के हिसाब से भारत के अरबपतियों की कुल संपत्ति देश की जीडीपी के 15 प्रतिशत के बराबर है। 2017 में भारत की जीडीपी 24.40 खरब डॉलर यानि कि 1584.70 खरब रुपये के बराबर थी। रिपोर्ट के हिसाब से जीडीपी का 15 फीसदी हिस्सा यानि कि 237.60 खरब रुपये अमीरों के खाते में है।

moneyक्या है कारण?

ऑक्सफैम इंडिया ने इसके लिए सरकार की नीतियों को ज़िम्मेदार ठहराया है। इसके अनुसार देश में जो पहले से अमीर हैं, वो अमीर होते ही जा रहे हैं और निचली पायदान के लोग और भी नीचे होते जा रहे हैं। इसके लिए 1991 के बाद से शुरु हुए उदारीकरण को भी ज़िम्मेदार ठहराया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here