रिजर्व बैंक का बिटक्वाइन को सीधे टक्कर देने की योजना, उठा सकती है ये कदम

0
204

जयपुर। फरवरी को आए वित्त बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ये साफ कर दिया था कि भारत में बिटक्वाइन को प्रचलन में लाने नहीं दिया जाएगा। सीधे तौर पर सरकार ने बिटक्वाइन को भारत में बैन ही कर दिया था। बिटक्वाइन एक क्रिप्टो करेंसी है, जिसका इस्तेमाल बाहरी देशों में होता है। कई देशों में भारत के तरह इसे बैन भी किया गया है। बिटक्वाइन ऑनलाइन करेंसी सिस्टम है, जिससे एक ग्राहक कहीं भी लेन-देन बिना कागज के नोट के कर सकता है।

 

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत में बिटक्वाइन के बैन होने के बाद अब खुद के ही क्रिप्टो करेंसी को लॉन्च कर सकती है। खबरों के मुताबिक रिजर्व बैंक बाकी सारे क्रिप्टो करेंसी को हिंदुस्तान में बैन कर देगा और उसका इरादा खुद की क्रिप्टो करेंसी चलाने का है।

आरबीआई ने क्रिप्टो करेंसी लाने के लिए कमिटि भी बना दी है और इस कमिटि के रिपोर्ट के बाद मुमकिन है कि रिजर्व बैंक पेपर करेंसी के तरह डिजीटल करेंसी भी जारी कर दे। आरबीआई ने पहले ही कई कंपनियों को आदेश दे दिया था कि वो किसी भी तरह से क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल लेन देन में ना करे। ब्लॉक चेन टेक्नोलॉजी वर्चुअल या डिजिटल करेंसी की मदद से लोगों को वित्तीय दायरे में लाना आसान भी हो सकता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here