अमेरिकी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने किया खुलासा, प्राचीनकाल का मानव समुद्री सीप से हथियार बनाने में सक्षम

0

जयपुर।प्राचीनकाल की मानव सभ्यताओं की खोज करने वाले अमेरिकी भू—अन्वेषण के वैज्ञानिको ने इस बात का दावा करते हुए खुलासा किया है कि प्राचीन समय में मानव आखेट के लिए पत्थरों से बने हथियारों के साथ-साथ समुद्री सीपों की मदद से बनाए गए औजारों का भी इस्तेमाल करता था।हाल ही में किए गए एक नए शोध के अध्ययन में शोधकर्ताओं ने निएंडरथल जो कि प्राचीन मानव की एक प्रजाति के निवास स्थलों पर मिली सीपों के विश्लेषण के आधार पर इस बात

का दावा किया गया है कि प्राचीन मानव इन हथियारों को तैयार करने के लिए निएंडरथल ना सिर्फ समुद्र के किनारों पर पड़ी सीप का प्रयोग करते थे, बल्कि इनके निकालने के लिए महासागरों के पैदे तक में गोता भी लगाते थे।

इस बात का खुलासा अमेरिका की कोलोराडो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इटैलियन गुफा से मिले 170 से अधिक समुद्री सीप के उपकरणों का अध्ययन करने के बाद किया है।अमेरिकी यूनिवर्सिटी के इन शोधकर्ताओ ने इन सीपों के घर्षण के आधार पर निएंडरथल द्वारा समुद्र के किनारे वाले और पानी के अंदर से इकट्ठा किए गए सीप में स्पष्ट तौर अंतर भी

बताया है।वैज्ञानिको ने प्राचीन मानव के बने इन उपकरणों का बारीकी से अध्ययन के बाद इस बात का भी खुलासा किया है कि कि लगभग जिन सीपों से इनके हथियार बने है उनमें से करीब तीन-चौथाई सीप अपारदर्शी थे, जो कि थोड़े बाहर

की तरफ निकले हुए थे।जिससे इस बात का भी पता चलता है कि इन सीपों को रेतीले समुद्री तट पर धोया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here