आरबीआई की बड़ी कार्रवाई! बैंक ग्राहक 6 महीने तक महज 1000 निकाल सकेंगे

0

आरबीआई ने एक और बैंक के खिलाफ सख्ती दिखाई है। भारतीय रिजर्व बैंक की बैंकों पर कार्रवाई देखने को मिल रही है। आरबीआई को थोड़ा सा भी संशय होने और संदेह होने पर कार्रवाई को अंजाम देने में लगा है। पीएमसी बैंक में पाबंदी लगाने के बाद रिजर्व  बैंक ऑफ इंडिया ने एक और बैंक को निशाना बनाया है। भारतीय रिजर्व बैंक ने कर्नाटक के श्री गुरु राघवेंद्र सहकारी बैंक पर पाबंदी लगाई थी। अब रिजर्व बैंक ने कोलकाता में कोलिकाता महिला को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड पर सख्ती बरती है। आरबीआई की ये कोई पहली कार्रवाई नहीं है। इससे पहले भी रिजर्व बैंक अन्य बैंकों पर शिकंजा कस चुका है।

आरबीआई ने इस बैंक पर 6 महीने की पाबंदी लगाई है।  इस बैंक के ग्राहक 10 जनवरी, 2020 से 9 जुलाई, 2020 तक एक हजार रुपये ही निकाल सकेंगे। या फिर यों कहें कि इस बैंक के ग्राहक 6 महीने में केवल 1000 रुपये ही निकाल सकेंगे। इससे बैंक में जमा लोगों के पैसों को लेकर चिंता सताने लगी है। अब अपनी कमाई के रुपयों को निकालने में छ माहा का इंतजार करना पड़ेगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपने अधिकारों का प्रयोग कर कोलिकाता महिला को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, कोलकाता को पिछले अपना बिजनेस बंद करने का आदेश दिया था। पिछले साल 9 जुलाई, 2019 को आरबीआई का ये आदेश जारी किया गया था। इसके बाद से भारतीय रिजर्व बैंक कई बैंकों पर सख्ती बरत चुका है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की कार्रवाई को लेकर बैंकिग सैक्टर में हलचल बढ़ गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here