मप्र में ‘राम वन गमन पथ यात्रा’ का रथ जब्त, सियासत गरमाई

0
191

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीख के ऐलान के बाद डिंडोरी जिले में मंगलवार की रात को राम वन गमन पथ पर निकाली जा रही यात्रा की बस (रथ) को जब्त कर लिया गया। इस पर राज्य की सियासत गरमा गई है। कांग्रेस ने जहां भाजपा के दबाव में धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया है, वहीं भाजपा ने कांग्रेस पर ‘संवैधानिक संस्थाओं के अपमान की परंपरा’ अपनाने का दोषी करार दिया है। चित्रकूट से राम वन गमन पथ पर शुरू हुई, इस यात्रा को भाजपा की ओर से कांग्रेस की यात्रा करार देते हुए डिंडोरी में निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की। इस शिकायत के आधार पर डिंडोरी के शाहपुरा में इस यात्रा की बस मंगलवार की रात जब्त कर ली गई।

कांग्रेस की मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने इस यात्रा को गैर राजनीतिक करार दिया और कहा कि यह यात्रा दो अक्टूबर को चित्रकूट से चित्रकूट धाम के प्रमुख ट्रस्टी पं. हरिशंकर शुक्ला ने शुरू की थी। यह यात्रा उन मार्गो से होकर गुजरी, जिस पर वनवास के दौरान राम, सीता और लक्ष्मण चले थे। यह गैर राजनीतिक धार्मिक यात्रा थी, शांतिपूर्वक चल रही थी, भाजपा के दबाव में पुलिस और प्रशासन ने इस यात्रा को शाहपुरा में रोका। यात्रा में शामिल लोगें को थाने ले गए और मामला दर्ज कराया।

शोभा ओझा का कहना है कि इस यात्रा को नौ दिन हो गए। यात्रा के दौरान श्रद्धालु भगवान राम के भजन-कीर्तन कर रहे थे। भाजपा के दबाव में प्रशासन का किया यह कृत्य धार्मिक भावना व आस्था को चोट पहुंचाने वाला है।

वहीं, भाजपा के मुख्य प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय का कहना है कि संवैधानिक संस्थाओं का अपने हित में इस्तेमाल और उनका अपमान कांग्रेस की परंपरा रही है। आगामी विधानसभा चुनाव मंे अपनी पराजय देख रही कांग्रेस बौखलाई हुई है और राम वन गमन पथ यात्रा को रोके जाने का आरोप भाजपा पर लगा रही है।

डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस हमेशा भटकाव की राजनीति करती रही है। यह आज नहीं, दशकों से करती आ रही है। हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा, जब कांग्रेस को लगा कि उसकी बात को कोई गंभीरता से नहीं ले रहा है तो उसने निर्वाचन आयोग पर दबाव बनाने का नया प्रपंच रचा है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here