अगर क्रोध नहीं त्यागा तो बर्बाद हो जाएगा जीवन, रामचरितमानस में है जिक्र

0

ऐसे कई सारे लोग है जिन्हें छोटी छोटी सी बातों पर पड़ी जल्दी गुस्सा आ जाता हैं मगर क्रोध को केवल ऐसे ही नहीं बल्कि हिंदू धर्म ग्रंथ रामचरितमानस में भी क्रोध को बुरा कहा गया हैं क्रोध के दुष्प्रभाव व्यक्ति के जीवन में काफी होते हैं इसकी वजह से जीवन तक बर्बाद हो जाता हैं Image result for क्रोधक्रोध सभी से दूर कर देता हैं, जिसके कारण व्यक्ति बहुत ही अकेला हो जाता हैं और जीवन निराशाओं से घिरने लगता हैं। वही सबसे बड़े ग्रंथ रामचरितमानस में भी क्रोघ को लेकर तुलसीदास जी ने लिखा हैं कि क्रुद्धः पापं न कुर्यात् कः क्रृद्धो हन्यात् गुरूनपि । क्रुद्धः परुषया वाचा नरः साधूनधिक्षिपेत् ॥ कः क्रुद्धः पापं न कुर्यात्, क्रृद्धः गुरून् अपि हन्यात्, क्रुद्धः नरः परुषया वाचा साधून् अधिक्षिपेत् ।Image result for क्रोध तुलसीदास जी ने कहा कि क्रोध करने वाला मनुष्य पापकर्म अधिक करता हैं पुण्य के कार्यों से वो बहुत ही दूर रहता हैं क्रोध में मनुष्य बड़े और पूज्य लोग तक को मार डालता हैं ऐसा मनुष्य अशब्दों का उपयोग अधिक करता हैं और साधुजनों पर भी निराधार आक्षेप लगाता हैं।Image result for क्रोध

वही अगर आपने अपने क्रोध पर काबू नहीं पाया तो आपको पूरा जीवन बर्बाद हो सकता हैं क्रोध करने से आपके स्वास्थ्य को भी बहुत नुकसान होता हैं वही विज्ञान के मुताबिक अधिक क्रोध करने से ब्लड प्रेशर बहुत हद तक बढत्र जाता हैं क्रोध करने से आपको मानसिक परेशानियां भी हो सकती हैं। वही क्रोध व्यक्ति के जीवन को अस्त व्यस्त कर देगा। इसकी वजह से आपके रिश्तों में भी कड़वाहट आ सकती हैं। Image result for क्रोध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here