राम जन्मभूमि विवाद पर बोले CM योगी: 24 घंटे में फैसला आ जाना चाहिए, 25वां घंटा लगना ही नहीं चाहिए

0
66

जयपुर। उत्तर प्रदेश विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए इस बात का जवाब प्रधानमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया और उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि एक आस्था से जुड़ा विषय है आपको बता दें कि लोकसभा के चुनाव नजदीक हैं और ऐसे में राम जन्मभूमि का मुद्दा एक बार फिर से चर्चा का विषय बना हुआ है. इस बात को लेकर ही एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ ने राम जन्मभूमि पर कहा है कि यह जन आस्था का सम्मान है और इसका सम्मान करते हुए 24 घंटे के भीतर इस पर अपना फैसला न्यायालय को सुना देना चाहिए इसके लिए उन्होंने कहा कि जहां तक जमीन के बंटवारे का प्रश्न है तो इलाहाबाद उच्च न्यायालय पहले ही कह चुका है कि झा राम लला जी विराजमान है वह राम जन्म भूमि है.

इसके अलावा राम मंदिर के मुद्दे पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आस्था का सम्मान ही होना चाहिए इसके अलावा उन्होंने कहा कि न्यायालय को जन आस्था का सम्मान करना चाहिए और उन्होंने कहा कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय के 3 संसदीय विशेष पीठ ने भी रामलला विराजमान है उसे राम जन्मभूमि बता तो वह तो समाप्त हो ही चुका है और बंटवारे का कहीं विवाद ही नहीं है इसके अलावा योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विवाद में की विलेन की राम जन्म भूमि है या नहीं और जब यह तय हो गया है तो इस पर विवाद के समाधान में 24 घंटे से 25 घंटा भी नहीं लगना चाहिए .

Iइसके अलावा उन्होंने अपने भाषण में निर्वासित गोवंश के बारे में भी बात की उन्होंने कहा कि पहले निराश्रित गोवंश चोरी कर अवैध बूचड़खाना में पहुंचाए जाते थे और उन्हें मां काट दिया जाता था लेकिन हमारी सरकार ने वैध बूचड़खाने पर रोक लगा दी है तो गोवंश के सड़को पर हैं हम गोवंश के संरक्षण और संवर्धन की व्यवस्था कर रहे हैं और 300000 निरसित गोवंश को अलग-अलग जिलों के आश्रय स्थलों में रखे जाने की तैयारियां कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here