राज्यसभा सांसद ने एलएंडटी पर लगाया आरोप, जानिए पूरा मामला !

0
71

कथित कॉर्पोरेट वित्तीय अनियमितताओं के एक अन्य उदाहरण में राज्यसभा के एक सासंद ने एलएंडटी समूह और उसकी अनुषंगी कंपनियों के खिलाफ मुंबई में गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई है। मुंबई एसएफआईओ ने राष्ट्रीय राजधानी में एसएफआईओ के निदेशक को एक पत्र लिखा है, जिसमें “इस घोटाले की राशि हजारों करोड़ रुपये आंकी गई है। घोटाले में धन शोधन, बेईमानी से धन निकालने, आयकर, बिक्री कर और सेवा कर में चोरी और वित्तीय विवरणों में गलत विवरण शामिल है।” पत्र में कहा गया है कि जांच के लिए यह एक उचित मामला है।

आईएएनएस के पास पत्र की एक प्रति मौजूद है। आरोपों को खारिज करते हुए एलएंडटी ने बताया, “हम मजबूती के साथ आरोपों को खारिज करते हैं, जो कि पूरी तरीके से बिना आधार लगाए गए हैं। एलएंडटी ने हमेशा से ही निगम नियंत्रण, वैधानिक अनुपालन और नियामक आवश्यकताओं के उच्च स्तर को बरकरार रखा है।”

सांसद कहकशां परवीन की शिकायत में कहा गया है कि एलएंडटी और उसकी अनुषंगियों को भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) द्वारा सामान्य चूककर्ता करार दिया गया है। इसमें कंपनी पर एलएंडटी सड़क परियोजनाओं के लिए बैंकों से करीब आठ हजार करोड़ रुपये के ऋण जुटाने का आरोप लगाया गया है। जिसका एनपीए (डूबा हुआ कर्ज) होने का गंभीर खतरा है।

शिकायत में कहा गया कि एलएंडटी चेन्नई टाडा लिमिटेड का ऋण खाता सितंबर 2015 के बाद से ही एनपीए में तब्दील हो चुका है और उसकी वसूली करना भी गंभीर खतरा है।

शिकायत में कहा गया कि अनुषंगियों की होल्डिंग कंपनी होने के नाते एलएंडटी को बैंकों का बकाया पैसा चुकाने के लिए आदेश दिया जाना चाहिए।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleप्रियंका ने रिलीज़ किया क्वॉन्टिको 3 का टीज़र, दिख रही हैं ऐसी कि देखते ही फैन हो जाएंगे इनके
Next articleऐप्पल की स्क्रीन को बिना छुए उपयोग कर सकेंगे, जानिये पूरी खबर
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here