CM गहलोत और पायलट के बीच विवाद की क्या है वजह, कई बार हो चुके आमने-सामने

0

राजस्थान में गहलोत सरकार में मचा घमासान जारी है। डिप्टी सीएम सचिन पायलट और सीएम अशोक गहलतो के बीच विवाद गहराता जा रहा है। सचिन पायलट कांग्रेस पार्टी की विधायक दल की बैठक में नहीं पहुंचे हैं। इससे पहले पार्टी ने व्हिप जारी किया था। इसक मतलब है कि विधायक दल की बैठक में नहीं पहुंचने वाले नेताओं के खिलाफ पार्टी एक्शन लेगी। लोगों के जहन में सवाल हैं राजस्थान की सियासत में आए भूचाल की क्या वजह है।

सियासी घमासान की वजह चिट्ठी बन गई। बताया जा रहा है कि एसओजी की ओर से सीएम गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट सहित  कुछ नेताओं को नोटिस जारी किया गया है। उसके बाद से पायलट खासे नाराज बने हुए हैं। पायलट खेमे में चर्चा है कि पालयट से पूछताछ के लिए एसओजी का नोटिस उन्हें स्वीकार नहीं है।

राजस्थान सरकार में रहते हुए सचिन पायलट ने अक्सर सरकार की खिलाफत वाले बयान जारी किए। विशेषकर कोटा के सरकारी अस्पताल में नवजात बच्चों की मौत को लेकर दिए बयान से गहलोत सरकार की बदनामी हुई। जब सीएम गहलोत के बेट वेभव ने जोधपुर लोकसाभी सीट से चुनाव लड़ा और हार गए थे। उस दौरान गहलोत ने इसकी वजह पायलट के नकारात्म रूख को माना था।

बता दें कि विधानसभा दलीय सीटों पर नजर डालें तो कांग्रेस के पास 107 विधायकों का समर्थन हैं। इसके अलावा सरकार को 13 निर्दलिय और एक राष्ट्रीय लोकदल के विधायक का भी समर्थन हासिल हैं। गहलोत के पास 121 विधायकों का समर्थन हैं। बहुमत के लिए 101 का आंकड़ा चाहिए।

Read More…
सुरजेवाला बोले- पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे खुले, बीजेपी को मौका देना अनुचित
Coronavirus Updates: देश में संक्रमितों की संख्या करीब 9 लाख, 24 घंटे में मिले 28 हजार केस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here