सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी! 5 फिसदी तक बढ़ाया महंगाई भत्ता

0

सीएम अशोक गहलोत ने राजस्थान बजट 2020-21 को विधानसभा में पेश किया है। प्रदेश के युवाओं, किसानों, गरीब, चिकित्सा और शिक्षा को लेकर कई बड़े ऐलान किए गए हैं। इस बजट में सभी वर्गों को सीएम गहलोत ने साधने की कोशिश की है।  गहलोत कर्मचारियों को बजट के दौरान बड़ी खुशखबरी दी है। महंगाई भत्ता पांच प्रतिशत बढ़ाने का ऐलान किया गया है। इसके अतिरिक्त गहलोत सरकार ने बजट में किसानों को बड़ी राहत दी है। फसली ऋण में पारदर्शिता लाने वाले ग्राम सेवा सहकारी समिति के जरिए बांटे जाने वाले फसली श्रण में नई व्यवस्था लागू की है। गहलोत सरकार अब तक 8700 करोड रुपये से ज्यादा का ब्याज मुक्त ऋण दिया जा चुका है।

गहलोत के बजट पिटारे से 53 हजार 151 पदों पर भर्ती करने का ऐलान किया गया है। गहलोत ने सरकारी स्कूलों के वातावरण को बेहतर बनाने के लिए प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर पेरेंट्स मिटिंग कराने का ऐलान किया है। शिक्षा के लिए 39 हजार 524 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। 66 कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों की घोषणा की गई है।प्रदेश को 15 नए मेडिकल कॉलेजों की सौगात दी है। यह सभी मेडिकल कॉलेजों को 4 साल के भीतर बनाने को लेकर लक्ष्य रखा गया है। सीएम अशोक गहलोत बजट भाषण के दौरान कहा है कि सरकार की पहली प्राथमिकता है कि लोगों को समय पर सही इलाज मिल सके।

गहलोत ने राज्य विधानसभा में सालाना बजट पेश किया है। बजट भाषण के दौरान गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकारी की गलत आर्थिक नीतियों के कारण उसके राजस्व में कई आई है। इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। गहलोत ने बजट पेश करते हुए कहा कि राज्य सरकार को केंद्रीय करों में मिलने वाले हिस्से में 10362 करोड़ रुपये की कटौती की जा रही है। राजस्थान के विभिन्न करों में बदलाव करते हुए 130 करोड़ रुपये की छूट दने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here