राजस्थान बजट: गहलोत का युवाओं को तोहफा, 53 हजार 151 पदों पर होंगी भर्तियां

0

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान का बजट पेश कर रहे हैं। बजट पेश करने के दौरान सीएम गहलोत ने कहा कि हमारे लिए संपूर्ण राजस्थान एक परिवार की तरह है। इस बार गहलोत ने बजट में गरीब, किसान शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और यूवा के लिए कई रास्ते खोले हैं। युवाओं को गहलोत के बजट से कई उम्मींदे थी, जो अब साकार होती नजर आएगी। गहलोत के बजट पिटारे से 53 हजार 151 पदों पर भर्ती करने का ऐलान किया गया है।

गहलोत ने सरकारी स्कूलों के वातावरण को बेहतर बनाने के लिए प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर पेरेंट्स मिटिंग कराने का ऐलान किया है। शिक्षा के लिए 39 हजार 524 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। 66 कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों की घोषणा की गई है। 41 करोड़ 60 लाख की लागत से अल्पसंख्यक बच्चों के लिये छात्रावास बनाने की बात कही है।

बजट भाषण के दौरान सीएम गहलोत ने स्कूलों में शनिवार के दिन नो बैग डे की घोषणा की है। शनिवार के दिन स्कूलों में पेरेंट्स टीचर मीटिंग, बालसभाएं होगी। इस  दिन कोई अध्यापन कार्य नहीं होगा। राजस्थान विधानसभा में बजट पेश करने के दौरान सीएम गहलोत ने सात संकल्प से बजट सत्र की शुरुआत की है। पहला-निरोगी राजस्थान, दूसरा-संपन्न किसान, ,तीसरा-महिला,बाल और वृद्ध कल्याण, चौथा-छात्र, युवा, जवान और मजदूर, पांचवां-शिक्षा का परिधान, छठा-बिजली,पानी, सातवां-कौशल एवं तकनीकी प्रधान से बजट की शुरुआत की है। गहलोत सरकार के बजट भाषण में प्रदेश को 15 नए मेडिकल कॉलेजों की सौगात दी है। यह सभी मेडिकल कॉलेजों को 4 साल के भीतर बनाने को लेकर लक्ष्य रखा गया है। सीएम अशोक गहलोत बजट भाषण के दौरान कहा है कि सरकार की पहली प्राथमिकता है कि लोगों को समय पर सही इलाज मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here