रेलवे भर्ती परीक्षा के मामले में लिया बढ़ा फैसला, इस पर रेल मंत्री ने किया ट्वीट

0
259

रेलवे बोर्ड ने रेलवे भर्ती परीक्षा में आईटीआई की अनिवार्यता को हटाने का फैसला लिया है। रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा में आटीआई या एनसीटी की योग्यता को खत्म करने का फैसला लिया गया है।

इस विषय पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करके जानकारी दी है। रेल मंत्री के इस ट्वीट पर पिछले कई समय से हो रहे आंदोलन की वजह से रेल मंत्रालय ने यह फैसला लिया है। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ITI की अनिवार्यता को समाप्त करने पर रेलमंत्री पीयूष गोयल को बधाई देते हुए कहा कि इस फैसले से बिहार के हजारों छात्र लाभान्वित होंगे।

 रेलवे परीक्षा में आईटीआई की अनिवार्यता हटाने और ग्रुप डी परीक्षाओं में उम्र सीमा बढ़ाने, के साथ शैक्षणिक योग्यता 10वीं करने के लिये पूरे बिहार में पिछले कई समय से आंदोलन चल रहा था। जिसके चलते गुरुवार को भी पटना के बहादुरपुर में रेलवे ट्रैक को जाम किया। इसके साथ भारी संख्या में पहुंचे छात्रों ने आगजनी की। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कटिहार इंटरसिटी एक्सप्रेस और जयपुर एक्सप्रेस को रोका गया। इस मामले में मंगलवार को पटना के राजेंद्रनगर में बवाल हुआ। इसके साथ कोचिंग सेंटर में तोड़फोड़ और पथराव के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था।

रेलवे मंत्रालय ने कहा है कि कक्षा 10 या ITI या NCVT का प्रमाणपत्र जिनके पास है वे अभ्यर्थी अब लेवल-1 की परीक्षा देने के लिये योग्य होंगे। ये अभ्यर्थी इन पदों के लिये आवेदन कर सकते हैं। दूसरे  ट्वीट में रेल मंत्री  ने कहा कि 10वीं कक्षा पास विद्यार्थी लेवल-1 परीक्षा में भाग ले सकते थे। हम इस स्थिति को पुनः स्थापित कर रहे हैं। अब इस परीक्षा के लिये 10वीं पास विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here