राहुल ने राफेल पर झूठे तथ्य बांटे : भाजपा

0
52

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला किया और कहा कि वह झूठ पर आधारित फर्जी तथ्य बांट रहे हैं और फ्रांस के साथ 36 लड़ाकू विमान सौदे पर गलत तथ्य प्रस्तुत कर रहे हैं।

प्रसाद की टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब सरकार ने बुधवार को नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (सीएजी) की रपट संसद में पेश की, जिसमें कहा गया है कि यह सौदा संप्रग द्वारा तय किए गए 126 विमानों के सौदे से 2.86 प्रतिशत सस्ता है। इसके साथ ही रपट में कहा गया है कि मौजूदा कैपिटल एक्वि जिसन सिस्टम वायुसेना को प्रभावी तरीके से समर्थन नहीं देता।

प्रसाद ने भाजपा मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “राहुल गांधी का झूठ आज बेनकाब हो गया है। राहुल गांधी देश में अत्यंत शर्मनाक तरीके से झूठ पर आधारित फर्जी तथ्य बांट रहे हैं, और गलतबयानी कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि झूठ की उम्र अधिक नहीं होती। “प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी), वित्तमंत्री (अरुण जेटली), और रक्षामंत्री (निर्मला सीतारमण) और सभी ने संसद में इस मुद्दे पर चर्चा की। एक-दो निहित स्वार्थी लोगों को छोड़कर बाकी सभी ने कहा कि राफेल सौदा आवश्यक था।”

उन्होंने कहा कि सेवारत भारतीय वायुसेना के अधिकारियों ने भी कहा कि राष्ट्र की सुरक्षा के लिए राफेल सौदा आवश्यक था।

प्रसाद ने कहा, “लेकिन राहुल गांधी ने संसद में गंभीर मुद्दों पर कभी चर्चा नहीं की, क्योंकि जो कुछ भी कहा जाता है वह दर्ज हो जाता है। वह बाहर झूठ बोलते हैं।”

राफेल सौदे पर सीएजी रपट और सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का जिक्र करते हुए प्रसाद ने कहा, “दोनों संवैधानिक संस्थाओं ने भी कहा है कि खरीदी प्रक्रिया स्वच्छ है और देश की सुरक्षा के लिए यह आवश्यक है।”

उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने 14 दिसंबर, 2018 को कहा था कि उसने वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत की, जिन्होंने अदालत को बताया कि भारत के दुश्मनों ने पांचवी पीढ़ी के स्टेल्थ लड़ाकू विमान हासिल कर लिए हैं और भारत के पास उस तरह का कोई विमान नहीं है।

प्रसाद ने कहा, “सीएजी रपट में कहती है कि पिछले 15 सालों से कोई काम नहीं किया गया। खरीदी प्रक्रिया 2000 में शुरू की गई थी। प्रस्ताव के लिए एक अनुरोध 2007 में किया गया था और निविदा नवंबर 2011 में खोली गई।”

कांग्रेस नेतृत्व वाली तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार पर हमला बोलते हुए भाजपा नेता ने कहा, “15 सालों में आप कोई काम नहीं कर सके। और उसके बाद सौदे में फिर विलंब हुआ।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleविदेशी आइलैंड से कम खूबसूरत नहीं भारत के ये द्वीप
Next articleमोदी के सस्ते राफेल, जल्द आपूर्ति के दावे का पर्दाफाश : राहुल गांधी
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here