राहुल गांधी ने किया राजस्थान में चुनाव प्रचार का आगाज, मोदी पर साधा निशाना

0
226

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को यहां राजस्थान के आगामी विधानसभा चुनाव का आगाज करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। कांग्रेस अध्यक्ष ने फ्रांस के साथ राफेल सौदा समेत कई मसलों को लेकर मोदी पर हमला बोला। राहुल गांधी ने सवाल उठाया कि लड़ाकू जेट विमान निर्माण में 70 साल पुरानी सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) की उपेक्षा क्यों की गई।

गांधी ने पूछा कि एक विमान की कीमत जो संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार में 540 करोड़ रुपये थी वह तीन गुना बढ़कर भारतीय जनता पार्टी की सरकार के दौरान 1,600 करोड़ रुपये कैसे हो गई।

उन्होंने कहा, “अब यह सवाल उस व्यक्ति से है जो 56 इंज का सीना होने का दावा करते हैं और कहते हैं कि वह देश के चौकीदार हैं। वह 1.5 घंटे की चर्चा के दौरान संसद में चुप्पी बनाए हुए थे।”

राहुल गांधी जयपुर में कांग्रेस की एक रैली में बोल रहे थे। उन्होंने यहां एक बड़ी रैली करके इसी साल राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अपने अभियान का आगाज किया। उन्होंने प्रधानमंत्री से दो करोड़ सालाना नौकरियां देने के उनके वादे को लेकर सवाल किया।

राहुल ने कहा, “चीन हर चौबीस घंटे में 50,000 नौकरियां पैदा करता है जबकि भारत में महज 450 युवाओं को इस दौरान नौकरी मिलती है।” उन्होंने कहा कि भारत में बेहतर प्रतिभा, अधिक संख्या में मेहनती लोग हैं।

उन्होंने प्रधानमंत्री को हरेक नागरिक के खाते में 15 लाख रुपये जमा करवाने के उनके वादे की याद दिलाई और कहा कि मोदी अपने वादों को पूरा करने में विफल रहे।

किसानों की खुदकुशी के मसले पर उन्होंने पूछा कि उद्योगपतियों के कर्ज जब माफ किए जाते हैं तो फिर किसानों के क्यों नहीं।

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने 15 शीर्ष उद्योगपतियों का 2,30,000 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया लेकिन किसानों का कर्ज माफ नहीं किया गया।”

उन्होंने मोदी को एक सलाह देते हुए कहा, “अगर आप उद्योगपतियों से गले मिलते हैं तो फिर किसानों से भी आपको गले मिलना चाहिए।”

उन्होंने कहा कि बड़े उद्योगपतियों को मदद करने के लिए नोटबंदी की गई। कांग्रेस ने घोषणा की कि सत्ता में आने पर पार्टी सभी वस्तुओं के लिए जीएसटी का एक स्लैब लाएगी और महंगाई पर लगाम कसी जाएगी।

राहुल ने कहा कि मोदी अक्सर कहते हैं कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लेकिन यह कभी नहीं कहते हैं बेटी को किससे बचाओ। उत्तर प्रदेश में भाजपा विधायक ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया लेकिन मोदी चुप रहे। दुष्कर्म की कई घटनाएं हो रही हैं लेकिन मोदी चुप रहते हैं।

उन्होंने कहा, राजस्थान में भी महिलाएं अकेले कहीं जाने में असुरक्षित महसूस करती हैं। राहुल ने कहा, मोदीजी कांग्रेस के पिछले 70 साल के शासन में महिलाएं कभी इतनी दयनीय दशा में नहीं थी।

राहुल ने कहा कि कांग्रेस राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाएगी और इन चुनावों में किसी पैराशूट उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस के जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं की आवाज सुनी जाएगी। उन्होंने कहा, “हमारा पहला कदम विधानसभा चुनावों को जीतना है और अगला कदम लोकसभा चुनाव में विजय हासिल करना है। ”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleश्रीलंकाई कोच हाथरूसिंघा ने कहा, मलिंगा की हो सकती है वापसी
Next articleदो जोड़ी एक्सप्रेस ट्रेनों में लगेंगे अतिरिक्त कोच, जानिए इसके बारे में !
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here