रेलवे के निजीकरण पर बोले राहुल गांधी, कहा-गरोबों का सहारा छीन रही सरकार

0

केंद्र की मोदी सरकार ने रेलवे के निजीकरण को लेकर कदम आगे बढ़ाए हैं। इसके लिए केंद्र सरकार ने 109 जोड़ी ट्रेनों को लेकर प्रस्ताव मांगा है। लेकिन कांग्रेस को सरकार का ये फैसला रास नहीं आया। इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

राहुल गांधी ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा है कि रेल गरीबों की एकमात्र जीवन रेखा है। अब सरकार उनसे ये भी छीनने जा रही है। लेकिन देश की जनता इसका करारा जवाब देगी।

रेलवे के निजीकरण को लेकर केंद्र सरकार काफी समय से विचार कर रही थी। अब रेल मंत्रालय ने 109 जोड़ी प्राइवेट ट्रनें चलाने के लिए रिक्वेस्ट फॉर क्वॉलिफिकशन मांगा है। केंद्र सरकार को संभावना है कि इससे भारतीय रेलवे में निवेश बढ़ेगा। इसके साथ यात्रियों को बेहत सुविधाएं मिल सकेगी।

इस प्रस्ताव को लेकर मोदी सरकार 30 हजार करोड़ रुपये के निवेस की उम्मीद लगाए बैठी है। इससे पहले भी केंद्र सरकार ने कुछ सरकारी संस्थाओ को निजी हाथों में सौंपने को लेकर प्रयास किया है। इसके चलते कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अक्सर सरकार पर हमलावर रहे हैं। फिर चाहे एयर इंडिया को बेचने की बात हो या फिर रेलवे का निजीकरण।

राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस पार्टी के अन्य नेताओं और विपक्षी दलों ने भी सरकार के इस फैसले का पुरजोर विरोध किया है। हालांकि, मोदी सरकार अपने फैसले पर अडिग बनी हुई है। जानकारी के मुताबिक, इन ट्रेनों क भारतीय रेलवे के ड्राइवर ओर गार्ड ऑपरेट करेंगे।

Read More….
Monsoon Updates: उत्तर भारत में 4 जुलाई से बदलेगा मौसम का मिजाज, तेज गर्मी से मिलेगी राहत
Hong Kong मामले पर चीन का विरोध तेज, UN में भारत ने हांगकांग पर चीन के बर्ताव पर जताई चिंता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here