जीएसटी में कटौती को लेकर ये बोल गए राजीव बजाज

0

बाजाज ऑटो एनएसई के प्रबंध निदेशक राजीव बजाज ने ऑटो जगत को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने बाइक और स्कूटर्स पर निर्माता लेवी में अस्थायी कमी करने की मांग की है। ऐसा करने से लागत को कम करने में सहायता मिलेगी। राजीव बजाज ने कहा कि अति-विनियमन भारत के दोपहिया उद्योग को मार रहा है।

राजीव बजाज बोले कि कर में कटौती करने से वाहनों को खरीदने की लागत में निरंतर हो रही बढ़ोतरी को कम करेगी। अब बीएस-6 मानकों की अनुपालना के लिए तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि ‘अति-विनियमन’ ऐसी स्थिति के लिए जिम्मेदार है। अति विनियमन ऐसे हालात के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है, जो उद्योग जगत को को मार रहा है।

बजाज ने केंद्र से माल और सेवा कर (जीएसटी) में अस्थायी कमी को 2 से 3 वर्षों के लिए घटने का आग्रह भी किया है। उन्होनें जीसटी स्लैब को 28 प्रतिशत से 18 फीसदी करने की मांग की है। इसको लेकर वजह भी बताई है कि अधिग्रहण लागत में अनुमानित 20-25 प्रतिशत की बढ़ोतरी से ऑटो मार्केट से ग्राहकों ने दूरी बना ली है। ऐसे में वाहन उद्योग में ये खरीदारों को रोक सकती है। इससे ऑटो कारोबार पर वित्तीय असर देखने को मिल सकत है।
आपको बता दें कि आर्थिक मंदी और अर्थव्यवस्था की धीमी चाल से भारत में दोपहिया वाहनों की बिक्री में 2019 से गिरावट आई है। मोटर वाहन उद्योग में व्यापक गिरावट को आई है। आर्थिक और ऑटो विश्लेषकों ने उच्च स्वामित्व लागतों को मंदी के लिए जिम्मेदार माना है। इसमें बीमा पर अतिरिक्त अग्रिम खर्च शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here