आर्थिक ग्रोथ को लेकर सरकार ने जारी किए आंकड़े, तीसरी तिमाही में 4.7% रही जीडीपी

0

देश की आर्थिक ग्रोथ को लेकर आंकड़े सामने आए हैं। भारत की अर्थव्यवस्था में पिछली तिमाही के मुकाबले थोड़ा सुधार हुआ है। शुक्रवार को केंद्र सरकार ने अर्थव्यस्था को लेकर आंकड़े जारी किए हैं। सरकारी आंकड़ो को लेकर काफी समय से इंतजार किया जा रहा था। तीसरी तिमाही के आंकड़ों में जीडीपी की दर 4.7 प्रतिशत रही है। दूसरी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत रही थी।

केंद्र सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार, भारती की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 4.7 प्रतिशत रही है, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 5.6 प्रतिशत रही थी। हालांकि, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण केंद्र का आम बजट पेश करने के दौरान देश के आर्थिक ग्रोथ को लेकर अनुमान जता चुकी है। कई ऐजेंसियों ने सरकार के दावों को खारीज किया था। ऐजेंसियों का कहना था कि आर्थिक ग्रोथ के आंकड़े 5 प्रतिशत से भी कम रहने वाले हैं।

पिछले कुछ समय से देश की ग्रोथ रेट में इजाफा करने के लिए सरकार कई कदम उठा रही थी। विशेषज्ञों ने ग्रोथ रेट का अनुमान 5 प्रतिशत के आसपास रहने का अनुमान जताया है। नोमुरा ने अनुमान जताया है कि निकटतम भविष्य में जीडीपी ग्रोथ में अधिक सुधार होने की गुंजाइश दिखाई नहीं दे रही है। ऐसे में तिसरी तिमाही में ग्रोथ रेट 4.3 प्रतिशत रह सकती है। इससे पहले की तिमाही में 4.5 प्रतिशत जीडीपी ग्रोथ रही थी। आरबीआई ने देश की ग्रोथ रेट 6 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था, लेकिन ग्रोथ रेट के 5 प्रतिशत आकलन से रिजर्व बैंक के अनुमान से कम जताया जा रहा है। भारत की आर्थिक ग्रोथ के कम रहने को लेकर आर्थिक विश्लेषकों का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते देश की आर्थिक ग्रोथ में कमी आंकी जा रही है।

सर्राफा बाजार! चांदी में 1700 रुपये की आई बड़ी गिरावट, सोना भी हुआ सस्ता

तो इस वजह से भारत ने ईरान के साथ रद्द कर दी सारी उड़ान सेवाएंं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here