आरक्षण की मांग पर महाराष्ट्र में विरोध प्रदर्शन

0
86
आरक्षण की मांग को लेकर मुम्बई में मराठा समुदय एक बार फिर 9 अगस्त को हड़ताल की। पिछले कुछ समय से चल रही इस हड़ताल का नेतृत्व मराठा क्रांति मोर्चा कर रही थी, लेकिन अब इस आंदोलन में दो और संघठन आ गए है। जिससे उन में आपसी मत भेद भी सामने आ रहा है। हालांकि सभी संघटनो ने कहा है कि 9 अगस्त का आंदोलन शांति पूर्ण रहा और किसी भी प्रकार से यातायात को प्रभावित नही किया गया ।
आपको बता दे कि पिछले कुछ मराठा आंदोलन में हिंसा की खबरे सामने आई थी।
वहीं मराठा क्रांति मोर्चा के नेता वीरेन्द्र पंवार ने कहा है कि आपसी सामंजस्य और सहमति की कमी के कारण मतभेद पैदा हो रहे है। उन्होंने कहा कि हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना चाहते है, लेकिन पिछली बार भी कुछ असामाजिक तत्वों ने मराठा आंदोलन के नाम पर हिंसा और तोड़फोड़ की घटनाओं को अंजाम दिया था, जिससे सरकार के सामने हमारी छवि ख़राब हुई थी।
बात दे कि मराठा समाज की मांग है कि इन लोगों को शिक्षा और सरकारी नौकरी में आरक्षण मिले, इसके अलावा किसानों के कर्ज माफी हो और ईद आरकसह के प्रदर्शन के चलते जिनभी लोगों को पोलिवे ने हिरासत में लिया है उन सभी को रिहा किया जाए।
आपको बता दे कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कह चुके है कि वो कोर्ट के आदेशों के अनुसार मराठा समाज को आरक्षण जरुर देगे। आपको बता दे कि कोर्ट ने आदेश दिया है कि देश के किसी भी राज्य में 50 प्रतिशत से ज्यादा का आरक्षण नही होना चाहिए और महाराष्ट्र में पहले से ही 50 प्रतिशत से ज्यादा आरक्षण दिया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here