‘India Unleash’ फाइट नाइट के साथ पेशेवर बाक्सिंग को पहली बार मिलेगा प्रो टच

0

एलजेड प्रोमोशन अपने ‘अनलीश इंडिया’ फाइट नाइट के माध्यम से 1 मई को पहली बार भारत में पेशेवर मुक्केबाजी की ताकत को पेश करने जा रहा है। यह फाइट जलंधर में होगी। पेशेवर मुक्केबाजी ने दुनिया भर में लोगों का दिल जीता है लेकिन यह अब तक भारत में अपनी पैठ नहीं जमा सका है। अपने इसी मकसद को पूरी करने के साथ-साथ भारतीय मुक्केबाजों को उनकी जिंदगी में रौनक लाने का मौका देने के लिए पर्म गोराया ने भारत में पहली बार प्लान्ड फाइट नाइट्स का आयोजन करने का फैसला किया है।

‘अनलीश्ड इंडिया’ भारतीय मुक्केबाजी कमिशन (आईबीसी) द्वारा मान्यता प्राप्त इवेंट है। गोराया अमेरिका में होने वाली बाक्सिंग के फारमेट के आधार पर बदलाव लाना चाहते हैं और उनका मकसद भारतीय पेशेवर मुक्केबाजों की जिंदगी में बदलाव लाना है।

गोराया एक दूसरी पीढ़ी के ब्रिटिश भारतीय हैं। वह नेवादा स्टेट एथलेटिक कमीशन (ठरअउ) के साथ पंजीकृत प्रोमोटर हैं। वल्र्ड बॉक्सिंग काउंसिल (डब्ल्यूबीसी) और इंटरनेशनल बॉक्सिंग फेडरेशन (आईबीएफ) के साथ उनके मजबूत ताल्लुकात हैं। गोराया को पता है कि जमीनी स्तर से एक मुक्केबाज को उठाकर उसे पेशेवर मुक्केबाज बनाने में क्या-क्या करना पड़ता है।

एलजेड प्रोमोशंस के सीईओ गोराया ने शुक्रवार को यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा, “निश्चित रूप से भारत में प्रो बॉक्सिंग को लेकर बहुत संभावनाएं हैं। इसे बस एक सुव्यस्थित पारिस्थितिकी तंत्र (इको सिस्टम) और एक ²ष्टिकोण की जरूरत है। ‘अनलीश्ड इंडिया’ फाइट नाइट हमारा एक प्रयास है और साथ ही साथ यह भारत में प्रो-बॉक्सिंग को हिट बनाने के लिए सही दिशा में लया गया एक कदम भी है। मुझे यकीन है कि ‘अनलीश्ड इंडिया’ एक बेंचमार्क स्थापित करेगा और देश में मुक्केबाजों के विकास में योगदान देगा। मेरी योजना है कि इस तरह के और अधिक फाइट्स हों और एक पेशेवर भारतीय की शुरूआत की जाए, जो गुणवत्तापूर्ण फाइट्स की गारंटी देता हो।”

द ग्रेट खली नाम से मशहूर द वलर्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट (डब्ल्यूडब्ल्यूई) के स्टार दलीप सिंह ने गोराया और भारत में पेशेवर मुक्केबाजी को सही दशा और दिशा देने के उनके प्रयासों को अपना समर्थन दिया है। इसीलिए पहली फाइट्स नाइट्स का आयोजन जलंधर स्थित खली की अकादमी में कराने का फैसला किया गया है।

द ‘अनलीश्ड इंडिया’ फाइट नाइट में 10 फाइट कार्ड शामिल होंगे, जिसमें देश के शीर्ष 20 प्रतिभाओं (टैलेंट्स) को शामिल किया जाएगा। रात के लिए स्टार आकर्षण पवन गोयत, चांदनी मेहरा (फीदरवेट) और सुमन कुमारी (लाइटवेट) होने जा रहे हैं। तीनों के बीच, गोयट खिताब के दावेदार माने जे रहे हैं।

बॉक्सिंग एक ऐसा खेल है जिसमें हमेशा से जमीन से आसमान तक पहुंचने जैसी कहानियों की भरमार रही है। उनमें से ही एक हैं युवा अफगानी मुक्केबाज, नवाज मोहम्मदी। मोहम्मदी एक अफगान शरणार्थी हैं। मोहम्मदी अपने परिवार को बेहतर जिंदगी देना चाहते हैं और इसी कारण फाइट नाइटस के माध्यम से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

द ‘अनलीश्ड इंडिया’ फाइट नाइट को लेकर गोयट ने कहा ह्लएक मुक्केबाज के रूप में यह फाइट नाइट मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मैं दो साल के बाद रिंग के अंदर कदम रखूंगा और इस फाइट को जीतने को लेकर मैं चिंतित हूं। यह न केवल मेरे लिए बल्कि अन्य भारतीय मुक्केबाजों के लिए एक नाम बनाने और खुद को स्थापित करने का सही मौका है। मैं मुकाबले के लिए उत्सुक हूं और इससे मुझे अपना आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद मिलेगी।”

फाइट नाइट के दौरान कोरोना सम्बंधी सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा और पहली फाइट की रात सीमित संख्या में लोग एरेना में होंगे।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleचेक बाउंस के मामले निपटाने के लिए अदालतें बनाए सरकार जाने क्या है नया मामला
Next articleHealth: स्लीप एपनिया क्या हैं ,इन चेतावनी संकेतों से सावधान रहें
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here