E-Commerce द्वारा भारत में Festival Season Sales की तैयारी, Warehouse की मांग में दिखी बढ़त

0

अमेज़न और फ्लिपकार्ट हाल के समय में देश भर में कई सारे गोदामों और उनके संचालकों के साथ बातचीत कर रहे हैं। भारत में त्योहारी सीजन करीब आा गया है और वह अब अधिक से अधिक वेयरहाउस की मांग को पूरा कर रहें हैं , ताकि अस्थायी रूप से बम्पर त्योहारी सीज़न में अपने स्थान और डिलीवरी की प्रतिष्ठा को कायम रख सकें इतना ही नहीं , हाल में उपभोक्ता लगातार कोरोना के कारण ऑनलाइन ही अब ऑर्डर करना पसंद कर रहें हैं ।

Amazon Provide 7 Lakh Rupee Financial Help To Start Business With Comp -  Amazon के साथ मिलकर शुरू करें अपना बिजनेस, कंपनी करेगी 7 लाख रुपए की मदद |  Patrika Newsदोनों कंपनियां मौजूदा पूर्ति केंद्रों से अपनी बिक्री में बढ़त की उम्मीद लगाए हुए हैं और अगले कुछ ही महीनों के लिए भंडारण के क्षेत्रों ( warehouse) की तलाश को पूरा करने में लगी हुई हैं, जब तक कि वह अपनी सुविधाओं का विकास कर और अधिक उपलबद्ध न कर पाए। अमेज़न ने पहले के कुछ महीनों के लिए गुरुग्राम में राष्ट्रीय राजमार्ग 8 पर लगभग 3 लाख वर्ग फुट की जगह ले ली है और साथ ही अन्य भी कई सारे लोगों के साथ में अधिक warehouse किराये पर ले कर अधिक से अधिक मांग और बिक्री की उम्मीदें लगाए हुए हैं ।

फ्लिपकार्ट (Flipkart) क्या है? - What Is Flipkart In Hindiफ्लिपकार्ट ने भी कई खरीदारों के साथ बातचीत की है और अब ई-कॉमर्स खिलाड़ी त्योहारी सीज़न से पहले अस्थायी आधार पर जगह को किराये पर आमतौर पर 4-8 महीने तक लेते हैं। इस साल सौदों का आकार तेजी से बढ़ने की उम्मीद लगाई जा रही है। यहाँ आपकों बतादें की आमतौर पर अस्थायी रूप से किराये का आकार 50,000 वर्ग फुट से लेकर 1.5 लाख वर्ग फुट तक उपलब्ध है। खबरों के अनुसार ऐमज़ान  ने कहा कि उसके द्वारा 10 नए पूर्ति केंद्र को स्थापित करने की योजना बनाई जा रही है।

Flipkart, Amazon, Snapdeal are claiming a cracker festival season. Here's  how they have fared so far | Business Insider Indiaजो की आमतौर पर त्योहारी सीजन के दौरान ऑनलाइन खरीद की मांग में वृद्धि को पूरा करने के लिए तैयार बनाती है। कोविद -19 के कारण कई ऑफलाइन रिटेलर ऑनलाइन चले गए हैं और यहां तक ​​कि शादी की खरीदारी भी अब धीरे – धीरे सब ऑनलाइन ही कर रहें हैं। भारत में त्योहारों का मौसम, जो नवरात्रि से शुरू होता है और दिवाली तक जाता है, आमतौर पर निर्माताओं के वार्षिक कारोबार में 40-45% का योगदान करता है। इलेक्ट्रॉनिक्स में उच्च बिक्री का आंकड़ा हमेशा उचाइयों को छूता आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here