प्रदोष व्रत आज: सुखी वैवाहिक जीवन के लिए किया जाता है प्रदोष व्रत

0

3 जून दिन बुधवार यानी की आज प्रदोष व्रत रखा जा रहा हैं इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की विशेष पूजा और व्रत करने से हर इच्छा पूरी हो जाती हैं शिवपुराण के मुताबिक इस व्रत को करने से हर तरह के दोषो का नाश हो जाता हैं। सबसे पहले चंद्रमा ने ये व्रत किया था। जिससे चंद्रमा का क्षय रोग खत्म हो गया था। प्रदोष व्रत करने से उम्र बढ़ती हैं और शरीर निरोगी हो जाता हैं कुछ लोग सुखी वैवाहिक जीवन और संतान प्राप्ति के लिए भी यह व्रत रखते हैं ऐसा माना जाता हैं कि त्रयोदशी तिथि पर व्रत करने वाले को सौ गाय दान करने के बराबर पुण्य फल की प्राप्ति होती हैं

शिवपुराण के मुताबिक माह के दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि में शाम के समय को प्रदोष कहा गया हैं ऐसी मान्यता हैं कि शिव प्रदोष के समय कैलाश पर्वत पर स्थित अपने रजत भवन में नृत्य करते हैं। इसी कारण से भक्त शिव को प्रसन्न करने के लिए इस दिन प्रदोष व्रत करते हैं इस व्रत को करने से सारे कष्ट और हर तरह के दोष मिट जाते हैं कलयुग में प्रदोष व्रत को करना बहुत ही मंगलकारी होता हैं और शिव कृपा प्रदान करता हैं सप्ताह के सातों दिन किए जाने वाले प्रदोष व्रत का विशेष महत्व होता हैं प्रदोष को कई जगहों पर अलग अलग नामों से भी जाना जाता हैं वही दक्षिण भारत में लोग प्रदोष को प्रदोषम के नाम से जानते हैं। इस व्रत में बिना जल पीए व्रत रखना होता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here