पूजा भट्ट ने प्रोड्यूसर्स और एग्जिबिटर्स की लड़ाई को बताया दो गंजों की लड़ाई जैसा, जाने मामला

0

कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से आज हर इंडस्ट्री प्रभावित हो रही है। केंद्र सरकार के द्वारा की गई देश में तालाबंदी का फिल्म इंडस्ट्री पर भी काफी ज्यादा प्रभाव​ पड़ा है। कई फिल्मों की रिलीज और शूटिंग पिछले काफी समय से नहीं हो रही है। आपको बत दें कि 24 मार्च रात 12 बजे से पूरा देश मानो थम सा गया हो। हालांकि अब जाकर देश को थोड़ी रा​हत मिली है। अनलॉक के साथ ही फिल्म इंडस्ट्री में फिल्ममेकरों, थिएटर मालिकों, एग्जिबिटर्स और डिस्ट्रिब्यूटर्स में फिल्मों की रिलीज को लेकर गहमा गहमी भी शुरू हो गई है। कई लोग उम्मीद कर रहे हैं कि जल्द ही सिनेमाघर, जिम और क्लब खुल जाएंगे। हो सकता है कि सरकार इसकी इजाजद दे दें। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 8 जून से फिर से देश में कुछ बदलाव की उम्मीद जताई जा रही है जिससे ये कहा जा रहा है कि हो सकता है कि 8 जून के बाद से जिम, मॉल, सिनेमाघर खुल जाए। वहीं इस बीच बॉलीवुड की अभिनेत्री पूजा भट्ट ने अपने सोशल मी​डिया अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर किया है। जिसमे उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री के प्रोड्यूसर्स और एग्जिबिटर्स पर तंज ​कसा है। उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा है कि, इन दिनों प्रोड्यूसर्स और एग्जिबिटर्स के बीच हो रही लड़ाई वैसी ही है जैसे दो गंजे लोग एक कंघे को लेकर लड़ रहे हो। उन्होंने अपने अगले पोस्ट में सवाल खड़ा करते हुए पूछा कि, ऑडियंस कहां है?अभिनेत्री पूजा भट्ट के इस पोस्ट से यही अंदाजा लगाया जा रहा है कि वो ये कह रही है कि अगर मान लो फिल्म रिलीज भी हो गई तो क्या आडियंस फिल्म देखने पहुंचेगी। जब तक आडियंस फिल्म ही देखने नहीं जाएगी तो तब तक इसका क्या फायदा होगा। खैर अब पूजा भट्ट के इस पोस्ट पर लोगों की अलग अलग प्रतिक्रिया सामने आ रही है। जिसमे कई यूजर्स मजेदार जवाब भी देते हुए नजर आ रहे है।

सेल्युलाइड के बड़े परदे पर फिल्में जो तिलिस्म पैदा करती है, क्या वह मोबाइल की स्क्रीन पर हो सकेगा?

ओटीटी छोटे बजट की फिल्मों के लिए वरदान है तो बड़ी फिल्मों के लिए अभिशाप

बॉलीवुड से एक और बुरी खबर, इस मशहूर फिल्ममेकर का हुआ निधन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here