विश्व हिंदु सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा, हिंदु विचारधारा से लोगों को जोड़ने के लिए करे तकनीक का इस्तेमाल

0
44

जयपुर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हिंदुत्व के विचारों से और लोगों को जोड़ने के तकनीक का इस्तेमाल करने का आह्वान किया। उन्होंने विश्व हिंदु कॉंग्रेस को भेजे गए अपने संदेश में कहा कि विभिन्न प्राचीन महाकाव्यों व शास्त्रों को डिजिटल स्वरूप में लाकर बेहतर तरीके से युवा पीढ़ी को हिंदुत्व से जोड़ा जा सकता है। इसे लेकर पीएम ने कहा कि यह आने वाली पीढ़ी के लिए महान सेवा होगी।

जो हमें करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि तकनीक के इस युग में मैं प्रमुख रूप से इस सम्मेलन में पधारे सम्मानित प्रतिनिधियों से आह्वान करता हूं कि वह इस विषय पर विचार करे। बता दें कि इस सम्मेलन में 60 देशों से करीब 2500 से अधिक प्रतिनिधि शरीक हुए थे। पीएम ने उम्मीद जताते हुए कहा कि मुझे लगता है कि इस पर विचार किया जाएगा। इस कार्य से हमारा देश अपने प्राचीन ज्ञान के खजाने के सहारे बोद्दिक व सांस्कृतिक रूप से विश्व के साथ अच्छे से जुड़ सकते है।

इसको एक मकसद के साथ विकसित किया जाना चाहिए जिससे युवा पीढी बेहतर तरीक से जुड़ सके। और इसकी सीख से बेहतर जीवन जी सके। औऱ देश के विकास में अपनी साझेदारी दे सके। अपने संदेश में पीएम ने कहा कि  यह सम्मेलन जिस प्रकार से विचारकों, विद्वानों, बुद्धिजीवियों,प्रबुद्ध विचारकों को एक साथ लाया है यह सराहनीय कदम है। साथ ही उन्होंने कहा कि हिंदुत्व मानवजाति के का सबसे पुरान मत है।

हिंदु दर्शन अनेक समस्याओं का हल है। इस अलग अलग पहलुओं से हम किसी भी समस्या का हल निकाल सकते है। लेकिन समूचे विश्व में आज हमें अपनी बेडियों में जकड़ रखा है। उन्होंने कहा कि यह बहुत खुशी की बात है कि यह सम्मेलन शिकागों मे है। यह हमे उस एतिहासिक पल की यादों को ताजा कराने का काम करता है. जहां स्वामी विवेकानंद ने 125 साल पहले यहां पर ऐतिहासिक भाषण दिया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here