पितृपक्ष 2019: श्राद्ध में पितरों की तरह पूजे जाते हैं ये पेड़ और पक्षी, आप भी जानिए

0
65

बता दें कि हिंदू धर्म में अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति और तृप्ति और के लिए लोग हर साल पडितों को घर बुलाकर श्राद्ध करते हैं वही विष्णु पुराण के मुताबिक श्रद्धा और भक्ति से किए गए श्राद्ध से मनुष्य के पितर तृप्त होकर प्रसन्न होते हैं, मगर क्या आपको पता हैं कि हिंदू धर्म में तीन ऐसे पेड़ और पक्षी हैं जिन्हें पितरों के समान माना जाता हैं तो आइए जानते हैं कि ये पेड़ और पक्षी कौन से हैं, तो आइए जानते हैं।

आपके बता दें कि हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को बहुत ही पवित्र माना जाता हैं वही धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक पीपल के पेड़ में विष्णु का निवास होने के साथ उसे पितृदेव के रुप में भी पूजा जाता हैं वही पितृपक्ष में इस पेड़ की उपासना करना बहुत ही शुभ माना जाता हैं। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक बरगद के पेड़ में भगवान शिव का वास माना जाता हैं अगर आपको कभी यह महससू हो कि आपके किसी पितर को मुक्ति नहीं मिली हैं तो बरगद के पेड़ के नीचे बैठकर भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। वही पितृपक्ष के दौरान भगवान शिव को प्रिय बेल के पेड़ का पत्ता चढ़ाने से अतृप्त आत्मा को शांति मिलती हैं वही कहा जाता हैं कि अमावस्या के दिन शिव जी बेल पत्र और गंगाजल चढ़ाने से भी पितरों को मुक्ति मिलती हैं। वही श्राद्ध में घर के आसपास कौए का दिखना बहुत शुभ माना जाता हैं, ऐसा कहा जाता हैं कि अगर कोई मनुष्य श्राद्ध के दौरान किसी कौए को खाना खिलाता हैं तो वह पितरों को भोजन कराने के बराबर माना जाता हैं। वही शास्त्रों के मुताबिक कोई भी आत्मा कौए के शरीर में स्थित होकर विचरण कर सकती हैं। वही पक्षियों में हंस एक ऐसा पक्षी हैं जिसके बारे में कहा जाता हैं कि उसके भीतर देव आत्माएं आश्रय लेती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here