आईंस्टीन के बाद सबसे बड़े वैज्ञानिक माने जाने वाले भौतिकशास्त्री स्टीफ़न हॉकिंग का निधन हुआ

0
260
Britain's Professor Stephen Hawking delivers a keynote speech as he receives the Honorary Freedom of the City of London during a ceremony at the Guildhall in the City of London, Monday, March 6, 2017. Hawking was presented the City of London Corporation's highest award Monday in recognition of his outstanding contribution to theoretical physics and cosmology. (AP Photo/Matt Dunham)

जाने माने वैज्ञानिक औऱ भौतिकशास्त्री स्टीफन हॉकिंग 76 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गए। दरअसल वो एक ऐसी गंभीर बीमारी से लड़ रहे थे, जिसके कारण उनके शरीर के कई हिस्सों में लकवा हो गया था। लेकिन स्टीफन एक योद्धा की तरह अपनी अंदर के दुश्मन से लड़ते रहे और उन्होंने हार नहीं मानी। इस बीमारी के साथ ही उन्होंने ब्रह्मांड के कई रहस्य उजागर किए थे।

आपको बता दे कि स्टीफन हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग थ्योरी को समझने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। हॉकिंग के पास विभिन्न यूनिवर्सिटिज की 12 मानद डिग्रियाँ थीं। इतना ही नहीं उन्हें अमरीका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान भी प्रदान किया गया था। इस ब्रिटिश वैज्ञानिक ने विज्ञान के क्षेत्र से जुड़ी कई जानी-मानी किताबें भी लिखी थी, जिनमें ए ब्रीफ़ हिस्टरी ऑफ़ टाइम सबसे ज़्यादा लोकप्रिय हुईं।

इस दुख की घड़ी में उनके बच्चों- लुसी, रॉबर्ट और टिम ने कहा कि हमें ये जानकारी देते हुए बेहद दुख हो रहा है कि हमारे पिता का आज निधन हो गया है। ‘वो बेहतरीन वैज्ञानिक और असाधारण प्रतिभा के धनी थे। उनका काम और विरासत आने वाले कई साल तक लोगों के लिए प्रेरणा का काम करेंगे। यूनिवर्सिटी ऑफ़ केम्ब्रिज में गणित और सैद्धांतिक भौतिकी के प्रोफ़ेसर रह चुके स्टीफ़न हॉकिंग की गिनती आईंस्टीन के बाद सबसे बड़े भौतिकशास्त्रियों में की जाती है।

स्टीफ़न हॉकिंग का जन्म इंग्लैंड में आठ जनवरी 1942 को हुआ था। हमेशा व्हील चेयर पर रहने वाले हॉकिंग किसी भी आम इंसान से बिल्कुल अलग ही दिखते थे। विश्व प्रसिद्ध इस महान वैज्ञानिक स्टीफ़न हॉकिंग ने अपनी शारीरिक कमजोरियों को पीछे छोड़ते हु्ए यह साबित किया था कि अगर दृढ़ इच्छा शक्ति हो तो इंसान कुछ भी हासिल कर सकता है। ब्रह्माण्ड को समझने में स्टीफन ने अहम भूमिका निभाई थी। दुनिया इस महान वैज्ञानिक को सलाम करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here