पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा पेट्रोल को जीएसटी में लाने की जरुरत

0
139

जयपुर। केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को तेल की कीमतों में बढ़ोतरी के लिए अंतरराष्ट्रीय कारकों को दोषी ठहराया और कहा कि अब पेट्रोल के जीएसटी के दायरे में लाने की जरुरत है।

आपको बता दे की देश में पेट्रोल के दाम लगातार बढ़ रहे है, दिल्ली में पेट्रोक के दाम 80 रुपे प्रति लीटर है, वही मुंबई में पेट्रोल के दाम 85 रुपए प्रति लीटर पहुंच गया है, जिससे आम आदमी परेशान है। वहीं महाराष्ट्र के कई जिलो में पेट्रोल के दाम 88 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गए है। इसलिए अब सरकार को जरुरत है की सरकार पर टैक्स कम करे। इस वक्त केंद्र और राज्य सरकार मिलकर करीब 85 प्रतिशत तक का टैक्स लगा रही है। सरकार इस टैक्स को कम कर आराम पेट्रोल के दाम में कमी ला सकती है।

हालांकि प्रधान जो पेट्रोल को जीएसटी में लाने की बात कर रहे है, उस बात को केंद्र सरकार के कई मंत्री न बोल चुके है।

वहीं कांग्रेस ने ऐलान किया है की वो 10 सितंबर को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन करेगी। विपक्षी देश भर में ‘भारत बंद’ में शामिल होने के लिए पहले से ही अन्य विपक्षी दलों के पास पहुंच चुका है।

पेट्रोल के बढ़ते दामो के लिए बीजेपी सरकार को दोषी बताते हुए कांग्रेस के महासचिव अशोक गेहलोत ने कहा, “देश में ध्रुवीकरण का माहौल पैदा किया गया है, तेल की कीमतें चरम पर है। अर्थव्यवस्था के इस कुप्रबंधन के चलते आज देश में पेट्रोल के दाम बढे है। यूपीए सरकार के दौरान जब कीमतें बढ़ रही थीं तब  लोगों को बोझ कम करने के लिए टैक्स को कम किया गया था । “

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here